बिना दवा के ऐसे बढ़ाएं अपनी आंखों की रोशनी!

On Date : 25 January, 2017, 5:59 PM
0 Comments
Share |

नई दिल्ली: हमारी आंखें हमारे शरीर के सबसे महत्वपूर्ण और संवेदनशील अंग है। यह आकार में छोटी होने के बावजूद बहुत ही उपयोगी है क्योंकि इससे हम बेहतरीन दुनिया और अपने आस-पास के हर चीज को देखते हैं। आंखों के बिना हम अपनी लाइफ की कभी कल्पना नहीं कर सकते। वाकई यह हमारे का प्रकाश है! हालांकि हम अपनी आंखों का उतना ख्याल नहीं रखते हैं जितना शरीर के दूसरे अंगों का रखते हैं। हमें अपनी आंखों का विशेष ख्याल रखना चाहिए। कई ऐसी चीजें हैं जिसके जरिये हम अपनी आंखों को हेल्दी बनाए रख सकते हैं।

नीचे कुछ टिप्स दिये गये हैं जिसके अपना कर आप अपनी आंखों को स्वस्थ्य रख सकते हैं-

फल और सब्जियां
ना सिर्फ गाजर बल्कि अपने पौष्टिक डाइट में फलों और सब्जियों की प्रचुर मात्रा लें। जैसे- गहरे हरे रंग का पत्तेदार साग, स्प्राउट्स, नट, संतरे और नींबू।

ओमेगा 3 फैटी एसिड
अपने भोजन में मछली को शामिल करें क्यों इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। मछलियों में प्रमुख है सल्मोन, ट्यूना, और हलिबट। अध्ययनों से पता चला है कि ओमेगा-3 फैटी एसिड आंखों के लिए बहुत ही फायदेमंद है।

हेल्दी वेट
शारीरिक रूप से एक्टिव रहें अपने वजन को नियंत्रित रखें नहीं तो डायविटिज का खतरा बढ़ सकता है और अन्य सिस्टमेटिक कंडिशन बिगड़ सकता है। जिसका असर आपकी आंखों पर पड़ सकता है।

स्मोकिंग छोड़ें
स्मोकिंग सिर्फ आपके शरीर के लिए ही नुकसानदेह नहीं है बल्कि आपकी आंखों के लिए भी खतरनाक है। स्मोकिंग से बढ़ती उम्र से जुड़ी मैक्यूलर डिजेनरेशन, मोतियाबिंद, और ऑप्टिक तंत्रिका के नुकसान का खतरा बढ़ सकता है।

अल्ट्रावायलेट सूर्य की रोशनी से बचें
ध्यान दें, सूर्य को डायरेक्ट ना देखें क्योंकि सूर्य से आ रही अल्ट्रावायलेट किरणें आपकी आंखों के रेटिना को खराब कर सकता है और इससे ब्लाइंटनेस भी हो सकता है। हमेशा अल्ट्रावायलेट प्रोटेक्टिव सनग्लास पहनें।  

आंखों को धोएं
रोज सुबह-शाम अपनी आंखों को 10 से 15 बार छींटा मारकर पानी से धोएं। ऐसा करने से आपकी आंखें की थकावट दूर होगी और नमी और संचलन बढ़ेंगे। अपनी आंखों में बर्फ, ठंडा और गर्म पानी का इस्तेमाल न करें।

पर्याप्त नींद
रोज रात में पर्याप्त नींद में सोने से आपकी आंखें को आवश्यक पोषक तत्वों मिलेगा और उचित तरीके से काम भी करेगा। नींद की कमी से आंखों में थकान, खुजलाना और जलन होगी।

नियमित आंखों की जांच कराएं
अपने विजन को मजबूत बनाने के लिए नियमित रूप से आंखों की जांच कराएं चाहे किसी भी उम्र के हों। इससे आंखों की समस्या की जानकारी मिलती रहेगी और आप आंखों के प्रति सतर्क रहेंगे।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार