मुझे सम्मानित की जगह सस्पेंड कर दिया

On Date : 12 October, 2017, 1:25 PM
0 Comments
Share |

गुना/भोपाल, ब्यूरो। गुना जिले के मुंगावली शासकीय कॉलेज में कांग्रेस नेता और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के आने के बाद सस्पेंड किए गए प्राचार्य ने सरकार की कार्रवाई को गलत बताया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने मेरा पक्ष नहीं सुना। मुझे सम्मानित करने की जगह निलंबित कर दिया गया। गौरतलब है कि कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया मंगलवार को मुंगावली के गणेश शंकर विद्यार्थी शासकीय महाविद्यालय में विद्यार्थियों को संबोधित करने पहुंचे थे। प्राचार्य डॉ. बीएल अहिरवार ने कहा ज्योतिरादित्य सिंधिया क्षेत्र के सांसद हैं। प्रोटोकाल के चलते उनके कालेज आने पर रोक नहीं लगाई जा सकती है। उन्होंने कॉलेज आकर सांसद निधि से तीन लाख रुपए देने की घोषणा की है। मैने कॉलेज परिसर में  झंडे- बैनर लगाने और किसी पार्टी का प्रचार करने की अनुमति नहीं दी थी। सिंधिया के आने को लेकर शासन ने मुझसे एक घंटे में जवाब मांगा था, मैने उत्तर भी दे दिया लेकिन कोई विचार नहीं किया और निलंबित कर दिया।

सिंधिया का ट्वीट: दलित विरोधी मानसिकता
पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट किया है कि दलित प्राचार्य को निलंबित कर सरकार ने अपनी दलित विरोधी मानसिकता उजागर की है। यह एक तानाशाहीपूर्ण आदेश है, जो पूर्वाग्रह से किया गया निंदनीय कृत्य है।  

प्राचार्य अहिरवार की होगी जांच, आरोप तय

उच्च शिक्षा विभाग जल्द ही अहिरवार को चार्जशीट सौंपने जा रहा है। अहिरवार पर सिविल सेवा आचरण के उल्लंघन का मामला बना है। साथ ही उनके ऊपर विशेष राजनीतिक दल को फायदा पहुंचाने और विभाग को गलत बयानी करने का भी आरोप लगाया गया है। इसकी जांच के आदेश जारी होने वाले हैं।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार