राघोगढ़ बवाल: CM की सुरक्षा में चूक, मंच के पीछे जमा हो गए थे उपद्रवी

On Date : 13 January, 2018, 1:08 PM
0 Comments
Share |

गुना, ब्यूरो। राघोगढ़ नगर पालिका चुनाव में कल रात हुई हिंसा में मुख्यमंत्री की सुरक्षा को लेकर गंभीर चूक सामने आई है। गुना कलेक्टर राजेश जैन और एसपी निमिश अग्रवाल का सीएम की सुरक्षा को लेकर इंटेलीजेंस फेल रहा। सीएम की सभा के बाद उत्पात मचाने वाले मंच के पीछे जमा थे, लेकिन पुलिस और जिला प्रशासन को इसकी भनक तक नहीं लगी। बाद में हालात इतने बिगड़े की मुख्यमंत्री को मार्ग बदल कर हवाईपट्टी तक ले जाया गया। इस पूरे मामले में राज्य निर्वाचन आयोग ने चुनाव की दृष्टि से रिपोर्ट मांगी है। सीएम सचिवालय भी इसे सीएम सुरक्षा में एक बड़ी चूक मान रहा है, वहीं पीएचक्यू भी इसकी रिपोर्ट मांग सकता है। सूत्रों की मानी जाए तो मुख्यमंत्री की सभा के दौरान करीब सौ लोग मंच के पीछे जमा हो गए थे। मुख्यमंत्री के रहते ही नारेबाजी शुरू हो गई थी।  सीएम के रवाना होने के बाद मंच के पीछे जमा लोगों ने ही हंगामे की शुरूआत की। हालात ऐसे बने कि उपद्रव करने वालों को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोलू, लाठीचार्ज तक करना पड़ा। इस हिंसक घटना में सभा स्थल पर ही जमकर कुर्सियों एक दूसरे पर फेंकी गई, गाड़ियों में तोड़फोड़ की गई। इधर इस हिंसक झड़प के बाद भाजपा विधायक ममता मीणा ने आरोप लगाया है कि सीएम की  सभा से कांग्रेस घबरा गई है। कांग्रेस विधायक जयवर्धन सिंह ने कल गुंडागर्दी की इंतेहा कर दी।
जयवर्धन-लक्ष्मण सिंह ने घेरा थाना
उधर ममता मीणा और भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर जयवर्धन और पूर्व सांसद लक्ष्मण सिंह थाने के बाहर धरने पर बैठ गए हैं। उनके साथ कांग्रेस के सैकड़ों कार्यकर्ता हैं। दोनों ने आरोप लगाया कि भाजपा यहां पर गुंडागर्दी के दम पर चुनाव जीतना चाहती है।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार