...बिगाड़ने वालों से बचाना होगी हमारी हिन्दी

On Date : 10 September, 2015, 2:57 PM
0 Comments
Share |

एक अरब से ज्यादा लोग हिन्दी बोलते हैं। यह आंकड़ा इतना बड़ा है कि कई देशों की जनसंख्या शरमा जाए। फ्रेंच, जर्मन, स्पेनिश जैसी कई भाषाएं पानी भरती नजर आएं, लेकिन बात होती है हिन्दी को बचाने की। बात होती है हिन्दी के उत्थान की, विकास की। आखिर इसकी जरूरत क्यों है? आखिर इतनी बड़ी संख्या में लोग जिस भाषा को बोलते हैं वह इतनी कृपण क्यों बताई जा रही है कि उसकी समृद्धि किसी आयोजन की मोहताज हो जाए?

विश्व हिन्दी सम्मेलन का 1975 से शुरू हुआ सिलसिला पहले चार बरस तो वसुधैव कुटुंबकम   को रोशनी से आगे बढ़ा, लेकिन पिछले आयोजन में अस्मिता के सवाल पर क्यों सिमट आया? आखिर क्या वजह है कि हिन्दी में पलने, सोचने और मरने वाली संतानों को गुलामी की पर्याय रही दूसरी भाषा अंग्रेजी के पल्लू से बंधने को तत्पर रहते हैं? इसके लिए अभिजात्य वर्ग को कटघरे में खड़ा करने जैसे तमाम घिसे-पिटे जुमले कुल मिला कर पल्ला झाड़ने से ज्यादा कुछ नहीं है।

यही अंगे्रजी ऐसी भाषा है जिसमें हर साल अनेक भाषाओं के सैकड़ों शब्द जुड़ कर उसकी गतिशीलता और प्रवाह को धारदार बनाते हैं। जिससे वह सबसे ज्यादा कम्युनिकेटिव कहलाती है। इसके उलट हिन्दी को शुद्धता से लेकर अन्य कई प्रतिमानों पर बांधने से वह इतनी संरक्षा की शिकार हो जाती है कि उसके मायने समझने मुश्किल हो जाएं। इतने सालों के बाद भी हिन्दी को हम विज्ञान और अविष्कारों की भाषा नहीं बना पाए। इसे केवल गूढ़ता या गंवईपन की भाषा ही रहने दिया। पारिभाषक शब्दावली के नाम पर शब्द गढ़ने वालों ने अपना-अलग भाषाई  शासक वर्ग निर्मित कर लिया। भाषा में शासन मंत्र विकसित करने वाले और  लोग उसे शुचिता के नाम पर उसमें नए प्रवाह को रोकते  भी हैं। ऐसी बहुत सारी बेड़ियां है जिनमें हिन्दी की आजादी बाकी है। उसके बाद होगी उड़ान, जिसमें हिन्दी को ज्ञान-विज्ञान, सम्मान और दिल को बयान करने की भाषा  बनने के सफर पर जाना है

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

मसाला ख़बरें

एक्ट्रैस ने फेमस मैगजीन के लिए कराया हॉट फोटोशूट

मुंबई: बॉलीवुड एक्ट्रैस एवलिन शर्मा ने हाल ही में एक मशहूर मैगजीन के लिए फोटोशूट करवाया है। एवलिन ने...

मंदिरा बेदी ने वीकएंड पर पोस्ट की हॉट तस्वीर, इंस्टा पर मची खलबली

मुंबई: बॉलीवुड एक्ट्रैस मंदिरा बेदी सिनेमा और स्पोर्ट्स तक अपनी पुख्ता पहचान रखती है। हाल ही में मंदिरा...

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार