35 किमी की पैदल यात्रा, खिरकिया में सरकारी कॉलेज की पुरजोर मांग

On Date : 20 December, 2017, 10:52 PM
0 Comments
Share |

विधायक के साथ ठरवक और खिरकिया के विद्यार्थी हुए पैदल यात्रा में शामिल
प्रदेश टुडे संवाददाता, खिरकिया
सरकारी कॉलेज की बहुत जरूरी और अहम मांग को लेकर हरदा विधायक डॉ.आरके दोगने के साथ, एनएसयूआई के पदाधिकारी, कांग्रेस कार्यकर्ता और छात्र-छात्राओं ने खिरकिया से हरदा तक 35 किलोमीटर की पैदल यात्रा बुधवार को स्थानीय गांधी चौक से शुरू की है। यह पैदल यात्रा  बुधवार शाम को ग्राम मसनगांव में विश्राम करने के बाद गुरूवार को जिला मुख्यालय हरदा पहुंचेगी। खिरकिया हरदा जिले की सबसे बड़ी तहसीलों में से है, विडम्बना यह है कि यहां पर शासकीय कॉलेज नहीं है। करीब तीन दसक से खिरकिया के नागरीक शासकीय कॉलेज की मांग करते आ रहे है। कई ज्ञापन दे चुके है, कई बार आंदोलन कर चुके है लेकिन न तो जनप्रतिनिधियों द्वारा खिरकिया के बच्चों शैक्षणिक भविष्य से जुड़ी इस समस्या का समाधान किया गया है और ना ही शासन द्वारा यहॉ पर सरकारी कॉलेज खोला गया है। कॉलेज के अभाव में खिरकिया के, और खिरकिया के आसपास के हजारों छात्र छात्रऐं या तो हरदा जाते है या फिर बड़े सहरों की तरफ रूख करते है। इसमें सबसे ज्यादा परेशानी गरीब और मध्यम वर्गो के बच्चों की हो रही है। कॉलेज की समस्या से परेशान छात्र छात्राओं की मांग को लेकर अब एनएसयूआई ने बड़े आंदोलन का रूख अख्तियार किया है और शासन प्रशासन का ध्यान इस ओर आकर्षित करने के लिए पैदल यात्रा शुरू की है। एनएसयूआई की यह यात्रा विद्यार्थीयों के हित में है इसलिए छात्र छात्राओं का भारी संख्या में समर्थन मिल रहा है। इस यात्रा में राजेश पटेल गौयत, विधायक प्रतिनिधि दुगार्दास पाटिल, दसरथ पटेल, संजय मिश्रा,  रामनिवास पटेल, दिलीप  सोलंकी, दिलीप राजपूत, सावन शर्मा, रिंकू पगारे, राहुल पराशर, मनीष राय, प्रेम नारायण मीणा, भगवान वासले, एनएसयूआई जिला अध्यक्ष योगानंद राजपूत व अन्य मौजूद थे।

गांधी चौक में यात्रा को विधायक ने किया संबोधित
प्रात: 11 बजे स्थानीय गांधी चौक पर स्थानीय विधायक डॉ. आर. के. दोगने संगठन के कार्यकतार्ओं, छात्र, छात्राओं, नागरिको ने गांधी जी की प्रतिमा पर सूत की माला पहना कर इस यात्रा का प्राम्भ किया । इस अवसर पर उपस्तिथ जनो को सम्बोधित करते हुए विधायक दोगने ने कहा कि खिरकिया क्षेत्र की ये वर्षों पुरानी मांग अब अविलम्ब पूरी होना चाहिए। उन्होंने कहा कि इसके लिए खिरकिया के लोगों ने जमीन तक दान कर दी है। शासन को सिर्फ कालेज प्रांरम्भ करना है। उन्होंने इस लड़ाई को जनांदोलन बनाने का आग्रह किया। ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष श्याम सिंह राजपूत, नगर परिषद अध्यक्ष यशोदा पाटिल,  महिला कांग्रेस अध्यक्ष संगीता राय, खिरकिया छात्र संघ कालेज अध्यक्ष दीपिका राजपूत, महिला कांग्रेस नगर अध्यक्ष सोना शर्मा ने भी सम्बोधित किया।

खिरकिया में ही क्यों नहीं है सरकारी कॉलेज
हरदा जिले की सबसे छोटी तहसील सिराली के साथ साथ टिमरनी में भी सरकारी कॉलेज ख्ुाल गये है, लेकिन खिरकिया तहसील में अभी तक सरकारी कॉलेज नहीं खुला है। जबकि प्रदेश के शिक्षा मंत्री का हरदा गृहजिला है। खिरिकया में महज एक निजी महाविद्यालय है, जहां पर गिने चुने कोर्स है। मजबूरन गरीब वर्ग के लोग बीच में ही अपनी पढाई छोड़ देते है।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार