ASI ने सुसाइड नोट में अफसरों का नाम लिख वर्दी में लगाई फांसी

On Date : 23 December, 2017, 3:08 PM
0 Comments
Share |

अशोकनगर कोतवाली परिसर के टॉवर पर लटकता मिला शव
प्रताड़ना और सबूतों से छेड़छाड़ का आरोप
अशोकनगर, ब्यूरो
अशोकनगर में सहायक उपनिरीक्षक सतीश सिंह ने आज सुबह फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सतीश की लाश सुबह कोतवाली थाने के पास वायरलेस सेट के टॉवर से लटकी हुई बरामद की गई। एएसआई ने कथित सुसाइड नोट में जिला पुलिस के चार अफसरों के नाम लिखे हैं, जिसमें एसपी का भी नाम बताया जा रहा है। इन पर प्रताड़ना का आरोप लगाया गया है। हालांकि एसपी धर्मेंद्र सिंह भदौरिया ने कहा कि उनका नाम सुसाइड नोट में नहीं है। सूत्रों की मानी जाए तो उसकी जेब से पुलिस ने सुसाइड नोट बरामद किया। बताया जाता है कि कोतवाली पुलिस ने सतीश की जेब के कागज निकाल कर अपने पास रख लिए। सूचना पर परिजन पहुंचे तो उन्होंने जेब से निकले कागजों के बारे में पूछा तो थाना पुलिस ने आनाकानी की। इसके बाद परिजनों ने हंगामा कर दिया।
परिजनों को आरोप है कि सतीश को उसके अफसर लगातार प्रताड़ित कर रहे थे। इसलिए पुलिस ने उसकी जेब के कागज निकाल लिए हैं। बाद में एसपी धर्मेंद्र सिंह भदौरिया ने बताया कि पुलिस ने कागजों की जब्ती बनाई है। उसकी जांच की जाएगी। उसके बाद आत्महत्या के कारण स्पष्ट हो जाएंगे। इस मामले में एसपी ने प्रदेश टुडे से कहा कि उनका नाम सुसाइड नोट में नहीं है। इधर, यह भी पता चला है कि परिजनों द्वारा हंगामा किए जाने की सूचना के बाद कलेक्टर अशोकनगर बीएस जामोद भी मौके पर पहुंचे और परिजनों को जांच का आश्वासन दिया।

3 महीने पहले प्रधान आरक्षक ने भी खा लिया था जहर
इसके पहले चंबल संभाग में प्रधान आरक्षक ने टीआई और अफसरों की प्रताड़ना से त्रस्त होकर जहर खा लिया था। जहर खाने से पहले उसकी स्थानीय एसपी से बातचीत का आॅडियो वायरल भी हुआ था।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार