तेलकांड के बाद दारू पार्टी में भी अफसर चुप

On Date : 18 March, 2017, 3:49 PM
0 Comments
Share |

पुरानी छावनी थाना TI पर जांच के बाद एक्शन
प्रदेश टुडे संवाददाता, ग्वालियर

पुरानी छावनी में तेल की तस्करी के खुलासे के बाद थाने में शराबखोरी की हरकत ने ग्वालियर पुलिस की छवि पूरे देश में दागदार कर दी है। यहां शराबखोरी के पहले तेल की अवैध तस्करी का भी भंडाफोड़ हुआ था। इसमें भी  जिम्मेदार पुलिस अफसरों पर कोई एक्शन नही हुआ था।
होली के दूसरे दिन भाईदौज को पुरानी छावनी में पुलिस महकमे के अनुशासन को तार-तार कर देने वाली शराब पार्टी का खुलेआम आयोजन हुआ। आयोजन में डीजे पर फिल्मी संगीत और उस पर हाथों में बीयर की बोतल लिए थाने का स्टाफ जमकर थिरक रहा था। जबकि थाने की जिम्मेदारी टीआई प्रीति भार्गव की थी। उनकी मौजूदगी में थाने पर पुलिस स्टाफ ने शराब पार्टी की। इस मामले का वीडियो वायरल होने के बाद एसपी डॉ आशीष से लेकर डीजी पी ऋषि कुमार शुक्ला तक मामले की जानकारी पहुंची। जब देश की मीडिया में वीडियो प्रसारित होकर मप्र पुलिस की बदनामी हुई तो डीजीपी ने खुद इस पर कड़ी आपत्ति जाहिर की। आखिरकार एसपी ने शराब पार्टी में शामिल 15 लोगों को सस्पेंड कर लाइन अटैच कर दिया। साथ ही सीएसपी को जांच के आदेश दे दिए। महकमें के आला अफसरों की माने तो थाने में अराजकता के लिए सीधे जिम्मेदार थाना प्रभारी होता है। जबकि अफसरों ने इस मामले में टीआई के खिलाफ फिलहाल कोई एक्शन नही लिया है। जांच में टीआई से सवाल होना है कि शराबखोरी के दौरान वे कहां थी ? इसके साथ ही इस लापरवाही की इत्तला उनके द्वारा पहले ही अफसरों को क्यो ंनहीं दी गई? माना जा रहा है कि जांच रिपोर्ट के बाद टीआई पर एक्शन होगा। फिलहाल अफसर इस मामले में कुछ बोलने से बच रहे है।

हवलदार ने बनाया वीडियो
पुरानी छावनी थाने में शराबखोरी का वीडियो वायरल होने के बाद अब जांच का विषय उसे रिकॉर्ड करने वाले का है। पुलिस अफसर उस व्यक्ति को ढंूढ रहे हैं। जिसने अपने मोबाइल से ये वीडियो रिकॉर्ड किया है। बताया गया कि पार्टी में एक हवलदार ने यह वीडियो बनाया था। इसके साथ ही 108 एम्बूलेंस के चार कर्मचारी भी मौजूद रहे। ये भी संदेह के दायरे में है।

पुरानी छावनी में विवास्पद रहे मामले

  •     बच्चियों की तस्करी का रैकेट बदनापुरा और रेशमपुरा इलाके में चलता मिला। जबकि लोकल पुलिस आंखे मूंदकर बैठी रही।
  •     इंडियन आॅयल डिपो और मालगाड़ी के रेक से लाखों गैलन आॅयल की तस्करी पकड़ी। यहां गैराज और होटल में तेल के अवैध भंडार मिले। जिनसे पुलिस की मिलीभगत सामने आई।
  •     रायरु पर बनी शराब डिस्टलरी से अवैध खेप की तस्करी यूपी, पंजाब व मप्र के कई जिलों में होती है। कई बार खेप पकड़ी गई लेकिन रायरु डिस्टलरी पर अवैध परमिट का खुलासा हुआ। इसमें भी लोकल पुलिस की मिलीभगत सामने आई।
  •     पुरानी छावनी थाना बॉर्डर पर बना है । ऐसे में यहां हाई वे पर बने चेक पोस्ट पर अवैध वसूली की लगातार शिकायतें मिली है। इसमें तात्कालीन एसपी हरि नारायणाचारी मिश्रा ने भी एक्शन लिया था।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

मसाला ख़बरें

रूही सिंह ने सोशल मीडीया पर बिखेर अपने हुस्न के जलवे

मुंबई: फिल्म 'कैलेंडर गर्ल्स' से अपने करियर की शुरुआत करने वाली रूही सिंह इन दिनों अपनी हॉट इंस्टाग्राम...

जैकी श्रॉफ की बेटी ने फिर दिखाई बोल्ड अदाएं

मुंबई: बॉलीवुड अभिनेता जैकी श्रॉफ की बेटी कृष्णा श्रॉफ अपनी तस्वीरों की वजह से सोशल मीडिया चर्चा में...

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार