PNB में एक और घोटाला : बैंक अफसरों और कारोबारी ने फर्जी दस्तावेज से लिया 70 लाख रुपए का लोन

On Date : 11 April, 2018, 10:16 PM
0 Comments
Share |


इंदौर। पंजाब नेशनल बैंक में 70 लाख का लोन घोटाला उजागर हुआ है। ईओडब्ल्यू इंदौर ने एक कारोबारी और दो बैंक अफसरों पर धोखाधड़ी और भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत एफआईआर दर्ज की है। कारोबारी ने बैंक अफसरों से मिलकर फर्जी कंपनी के नाम पर लोन लिया और 70 वर्षीय महिला को लोन का गारंटर बनाकर बांगड़दा स्थित उसका एक प्लॉट बैंक में गिरवी रख दिया।
गारंटर बताकर की धोखाधड़ी
स्कीम नंबर 140 इंदौर निवासी 70 वर्षीय चंद्रकांता विजयवर्गीय के पास जब वसूली का नोटिस पहुंचा तो मामला उजागर हुआ। महिला ने ईओडब्ल्यू एसपी सव्यसाची सराफ से शिकायत की कि पंजाब नेशनल बैंक की उज्जैन शाखा से किसी ने उसे गारंटर बताकर छोटा बांगड़दा स्थित 24 सौ वर्गफीट का उसका प्लॉट गिरवी रख दिया, जबकि वह गारंटर नहीं बनी। उसे नहीं पता कि उसके प्लॉट के पेपर्स आरोपियों के पास कैसे पहुंचे।
पते से गायब कारोबारी और कंपनी
डीएसपी लोकायुक्त व जांच अधिकारी आनंद यादव के मुताबिक कार्तिकेय इंडस्ट्रीज के मालिक पंकज और पंजाब नेशनल बैंक उज्जैन के दोनों आरोपी अफसरों ने महिला के प्लॉट के दस्तावेज कहीं से प्राप्त किए। बाद में कार्तिकेय इंडस्ट्रीज के नाम से फर्जी दस्तावेज तैयार किए और तीन साल की बैलेंस शीट, इनकम टैक्स रिटर्न के साथ ही महिला के प्लॉट की गिरवी के दस्तावेज के साथ 21 मई 2014 को बैंक में लोन के लिए आवेदन दिया। बैंक अफसरों ने एक वकील से संपत्ति सर्च करवाई, एक कंपनी से संपत्ति का मूल्यांकन भी करवाया। लोन नहीं जमा होने पर उज्जैन की बैंक शाखा ने प्रकरण वसूली के लिए इंदौर मुख्यालय भेजा। ईओडब्ल्यू की टीम कारोबारी पंकज के मनपसंद कॉलोनी इंदौर स्थित पते पर पहुंची वह नहीं मिला।

ये हैं आरोपी
जिन आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया वे हैं- पंजाब नेशनल बैंक सुभाष नगर शाखा उज्जैन के पूर्व सीनियर मैनेजर गंगाधर विट्ठल, बैंक अधिकारी संजय धकीते और कार्तिकेय इंडस्ट्रीज का मालिक पंकज जैन।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार