BJP: बड़े बदलाव से शाह सेट करेंगे टीम जातीय संतुलन से तय होगा प्रदेशाध्यक्ष!

On Date : 17 April, 2018, 1:31 PM
0 Comments
Share |

भोपाल/नई दिल्ली, ब्यूरो। अगले कुछ घंटों में भाजपा की अंदरूनी राजनीति में बेहद अहम फैसले लिए जाने हैं। मध्यप्रदेश भाजपा का नया अध्यक्ष कौन होगा इसका फैसला आज शाम या कल तक हो जाएगा। प्रदेश भाजपा कार्यालय में होने वाली कोर कमेटी की बैठक में राष्टÑीय नेतृत्व द्वारा तय किए नाम को औपचारिक सहमति दी जाएगी। इसके अलावा चुनावी साल में आरक्षण को लेकर उपजे हालातों से निपटने पर भी कोर कमेटी विचार करेगी। उधर दिल्ली में पार्टी के राष्टÑीय अध्यक्ष अमित शाह आज कल में अपनी नई टीम का ऐलान करने वाले हैं। इसमें प्रदेश प्रभारी पद से विनय सहस्त्रबुद्धे की विदाई तय मानी जा रही है तो राष्टÑीय संगठन महामंत्री रामलाल को भी बदले जाने की चर्चाएं हैं।
चौथी बार प्रदेश में सत्ता वापसी के लिए संगठन की कमान किसके हाथ हो, यह राष्टÑीय नेतृत्व के लिए भी चुनौतीपूर्ण माना जा रहा है। इस सिलसिले में प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, पार्टी के राष्टÑीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, प्रदेश के मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, भूपेंद्र सिंह और वीडी शर्मा के नाम चर्चाओं में हैं। हालांकि नरेन्द्र सिंह तोमर मीडिया से चर्चा में इस बात को सिरे से खारिज कर चुके हैं कि प्रदेश अध्यक्ष के लिए उनके नाम पर विचार हो रहा है। ऐसे में नरोत्तम मिश्रा का नाम सबसे आगे है।
सहस्त्रबुद्धे की विदाई रामलाल भी बदलेंगे
पार्टी के राष्टÑीय उपाध्यक्ष विनय सहस्त्रबुद्धे की मध्यप्रदेश से विदाई तय मानी जा रही है। सहस्त्रबुद्धे को कुछ दिनों पूर्व ही अंतराराष्टÑीय संस्कृति संबंध परिषद का अध्यक्ष बनाया गया है। सहस्त्रबुद्धे को किसी अन्य प्रदेश का प्रभार दिया जा सकता है। नए संगठन प्रभारी को लेकर भूपेन्द्र यादव या केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान को भी प्रदेश से जोड़े जाने की संभावना है। अमित शाह की नई टीम के ऐलान के साथ ही दस सालों से अधिक समय से राष्टÑीय संगठन महामंत्री पद पर जमे रामलाल की विदाई के संकेत है। संगठन की इस मामले में संघ से चर्चा हो चुकी है। रामलाल को संजय जोशी के बाद राष्टÑीय संगठन महामंत्री बनाया गया था। उनके स्थान पर सहसंगठन महामंत्री बीएल संतोष या बी सतीश की ताजपोशी हो सकती है।
साउथ कोरिया की तरह होगी इंडिया में टोल टैक्स वसूली वाहन गुजरा और पैसा कटा
नई दिल्ली/गुड़गांव, ब्यूरो। देश भर में टोल पर किसी भी गाड़ी को टैक्स देने के लिए थोड़े दिनों में रुकना नहीं पड़ेगा। ऐसी व्यवस्था की जाएगी कि कार ड्राइवर का टैक्स गाड़ी के टोल क्रॉस करते ही उसके अकांउट से कट जाए। अभी यह यह व्यवस्था दक्षिण कोरिया में है। मई महीने में दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति भारत आ रहे हैं। उनके साथ टोल की इस नई व्यवस्था के साथ कई मामलों में एमओयू साइन होना है। जमीन मिलने के बाद खेड़कीदौला टोल प्लाजा शिफ्ट कर आठ दिन में निर्माण कार्य शुरू करवा दिया जाएगा। यह जानकारी केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नीतिन गडकरी ने गुड़गांव के सेक्टर 29 के एक होटल में एक कार्यक्रम के दौरान दी। गुड़गांव होते हुए दिल्ली से अलवर-सवाई माधोपुर-वडोदरा के रास्ते मुंबई तक एक्सप्रेस हाइवे बनाया जाएगा, जिसके पहले फेज का वडोदरा से मुंबई तक के मार्ग के लगभग 44 हजार करोड़ के टेंडर हो चुके हैं। इस एक्सप्रेसवे पर लगभग एक लाख करोड़ खर्च होंगे। हाईवे बनने से दिल्ली-मुंबई के बीच दूरी कम होगी और इससे गुड़गांव के लोगों को भी फायदा होगा।
राष्टÑीय टीम में शामिल होंगे नंदू भैया
वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान को राष्टÑीय टीम में जगह मिलना तय माना जा रहा है। पिछले साढेÞ तीन साल से नंदकुमार सिंह चौहान का कार्यकाल बेहतर माना जा रहा है।  ऐसे में राष्टÑीय नेतृत्व उनकी सम्मानजनक विदाई करना चाहेगा। सूत्रों की माने तो उन्हें जल्द ही राष्टÑीय उपाध्यक्ष पद से नवाजा जाएगा।
नाम तय, ऐलान बाकी!
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश भाजपा अध्यक्ष को लेकर कल तक तस्वीर साफ हो जाएगी। आज एक निजी टेलीविजन के कार्यक्रम में  उन्होंने कहा कि यहां फैसले भी कार्यकर्ताओं की राय से लिए जाते  हैं। सीएम के बयान के बाद माना जा रहा है कि प्रदेश अध्यक्ष का नाम तय हो चुका है और इसका सिर्फ ऐलान होना बाकी है।
इधर, 23 से राहुल का मिशन 2019 शुरू, टढ में असमंजस
नई दिल्ली/भोपाल, ब्यूरो। दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम से 23 अप्रैल को कांग्रेस के मिशन 2019 की शुरूआत हो रही है। इस दिन पार्टी ने बड़ा दलित सम्मेलन बुलाया है, यहां से राहुल गांधी संविधान बचाओ अभियान का ऐलान करने वाले हैं। इधर, मध्यप्रदेश में संगठन की बागडोर को लेकर असमंजस बरकरार है। राहुल गांधी गुजरात के फार्मूले पर ही काम करना चाहते हैं, जिसके चलते लंबे समय से ताजपोशी की बाट जोह रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक हाईकमान की लेतलाली से हैरान हैं। हालांकि मप्र में ओबीसी वर्ग से आने वाले प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव बने रहेंगे इसके संकेत पहले भी मिल चुके हैं।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार