बीजेपी: गुटबाजी ने फीका कर दिया CM का जलसा

On Date : 11 January, 2018, 3:13 PM
0 Comments
Share |

जिले ने बनाई दूरी, पार्षदों ने भी दिया गच्चा

प्रदेश टुडे संवाददाता, ग्वालियर
एकात्म यात्रा के दौरान यहां फूलबाग मैदान पर आयोजित कार्यक्रम भारतीय जनता पार्टी में हावी गुटबाजी के भंवर में फंसकर फीका हो गया। खास बात ये रही कि इस मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मौजूदगी पर भी बीजेपी आपसी खींचतान और टूटन से बाहर नहीं आ पाई। नतीजन करीब एक पखवाड़े से जारी समूची कवायद के बाद भी सीएम के जनसंवाद में ‘जन’ की कमी से पार्टी के रणनीतिकारों के माथे पर चिंता की लकीरें गहरा दी हैं।
दरअसल अंचल मे भाजपा लंबे अर्से से नेताओं की आपसी खींचतान की शिकार है। यही कारण है कि पहले तो शहर से लेकर जिलाध्यक्षों की घोषणा से लेकर जिला इकाईयों के गठन के मामले यहां से भोपाल तक झूलते रहे। इसी तरह पार्टी के ज्यादातार मोर्चा व प्रकोष्ठों के गठन को भी बड़े नेताओं की गुटबाजी ने लंबे समय तक अटकाकर रखा। इन हालातों का स्थानीय स्तर पर पार्टी के संगठनात्मक ढांचे से लेकर कार्यकर्ताओं के मनोबल पर भी विपरीत असर पड़ा है। ऐसे में सूबे की सरकार और संगठन की संयुक्त ताकत के भरोसे हो रही एकात्म यात्रा को लेकर भी बीजेपी अंचल में सकारात्मक संदेश देने में पूरी तरह नाकाम रही।
ढट की यात्रा के दौरान खुलकर सामने आ गई गुटबाजी
हाल ही में 6 से 8 जनवरी तक टेकनपुर में आयोजित डीजी कांफ्रें स के मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ग्वालियर यात्रा के दौरान ही बीजेपी के भीतर खदबदाती गुटबाजी सार्वजनिक रुप से खुलकर सामने आ गई थी। गौरतलब है कि तीन दिवसीय आयोजन में शिरकत करने 7 और 8 जनवरी को पीएम श्री मोदी भी ग्वालियर में रहे। इसी दौरान उनकी विदाई के मौके पर एयरपोर्ट पर भाजपा नेताओं की उनसे मुलाकात तय थी। खास बात ये रही कि उस समय जिलाध्यक्ष देवेश शर्मा ने पीएम से मुलाकात की सूची में जो क्राइटेरिया बनाया उसमें उन नेताओं को बाहर रखा गया जिनसे उनकी पटरी नहीं बैठती। इनमें दो बार के पार्टी के जिलाध्यक्ष व प्रदेश उपाध्यक्ष वेदप्रकाश शर्मा और विवेक जोशी सहित एकात्म यात्रा के प्रभारी राजेश सोलंकी भी शामिल हैं। वैसे तो और भी कई ऐसे नेता थे जिनको पीएम से मुलाकात के दायरे में रखा जाना था लेकिन उनके नाम सूची में शामिल नहीं किए गए।

पार्टी के भीतर चर्चा है कि एकात्म यात्रा के प्रचार के लिए शहर भर में लगाए गए होर्डिंग्स पर जिलाध्यक्ष का नाम और फोटो नहीं छापे जाने से वह नाराज हो गए और इसी का बदला लेने के लिए पीएम की विदाई के मौके पर तयशुदा मुलाकात से कई नेताओं के नाम उड़ा दिए। वहीं यात्रा के आयोजन से जुड़े लोगों का कहना था कि सरकार के इस आयोजन में केवल जनप्रतिनिधि और संवैधानिक पदों पर बैठे लोगों को ही शामिल किया गया था। हालांकि वैचारिक व संगठनात्मक रुप से भाजपा भी इसमें साथ दे रही है। इस सबके बावजूद सत्ता-संगठन की बेहतर जुगलबंदी का संदेश देने के बजाय ग्वालियर भाजपा ने तो पूरी तरह गुटबाजी के हावी होने का संदेश देकर संगठन की साख पर बट्टा लगा दिया है।
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आदि गुरु शंकराचार्य की प्रतिमा का बीते रोज ईटालियन गार्डन में अनावरण किया। इस अवसर पर प्रदेश सरकार की नगरीय विकास मंत्री श्रीमती मायासिंह, महापौर विवेक नारायण शेजवलकर, सभापति राकेश माहौर एवं साडा अध्यक्ष राकेश जादौन सहित मेयर इन काउंसिल के सदस्य एवं पार्षदगण आदि उपस्थित रहे। इस मौके पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आदि गुरु शंकराचार्य अद्वैत वेदांत के प्रणेता प्रसिद्व शैव आचार्य थे। आदि गुरु के द्वारा भारतवर्ष में चार मठों की स्थापना की गई है आदि गुरु ने धर्मराज्य की स्थापना के लिए व्यासपीठ तथा राजपीठ में सदभावपूर्ण संम्वाद के माध्यम से सामन्जस्य बनाए रखने की प्रेरणा प्रदान की।
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि आदि गुरु शंकराचार्य ने हमारे देश को एक सूत्र में पिरोने का काम किया है। चौहान ने कहा कि हम सभी को आदि गुरु के जीवन से प्रेरणा लेकर देश की एकता और अखण्डता के लिए अपना जीवन समर्पित कर देना चाहिए। इस अवसर पर महापौर विवेक नारायण शेजवलकर, सभापति राकेश माहौर एवं साडा अध्यक्ष राकेश जादौन सहित मेयर इन काउंसिल के सदस्यों एवं पार्षदगणों ने मुख्यमंत्री चौहान का पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया।
एकात्म यात्रा के स्वागत के लिए शहर के सभी 66 वार्डों से उपयात्राएं निकालना थीं। कलेक्टर राहुल जैन ने भी भरी बैठक में इसका ऐलान किया था। इसके लिए भाजपा ने अपने पार्षदों सहित हारे हुए वार्डों में अन्य नेताओं को इसकी जवाबदारी दी थी। पार्टी के लिए चिंता की बात ये है कि फूलबाग मैदान पर मुख्य आयोजन के दौरान मंच पर बैठे नेता तक इन उपयात्राओं के आने का इंतजार करते रहे लेकिन केवल रश्म अदायगी के लिए ही अधिकांश पार्षद अकेले-दुकेले फूलबाग पहुंचे।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार