शेयर बाजार पर दिखा भाजपा की जीत का असर

On Date : 14 March, 2017, 8:56 PM
0 Comments
Share |

मुंबई: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा को मिली शानदार सफलता से बाजार में लिवाली बढ़ने से मंगलवार (14 मार्च) को जोरदार तेजी रही. बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स जहां दो साल पहले की उंचाई फिर छू लिया वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 9,087 अंक के नये रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया. कारोबार के दौरान एक समय 50 शेयरों वाला एनएसई निफ्टी 9,100 अंक से उपर निकलकर 9,122.75 अंक पर पहुंच गया था. डॉलर के मुकाबले रपया भी 78 पैसे के उछाल के साथ 65.82 रपये प्रति डॉलर पर पहुंच गया जो 16 महीने का उच्च स्तर है.
 
थोक मुद्रास्फीति में तीव्र वृद्धि के बावजूद निवेशकों ने लिवाली पर जोर रखा और बाजार में इस उम्मीद पर निवेश किया कि सरकार विधानसभा चुनावों में मिली जीत के बाद और साहसिक ढंग से सुधारों को आगे बढ़ाएगी. जनवरी के औद्योगिक उत्पादन आंकड़ों से भी बाजार को समर्थन मिला. सालाना आधार पर आईआईपी में 2.7 प्रतिशत की वृद्धि हुई. एक समय बंबई शेयर बाजार का तीस शेयरों पर आधारित सूचकांक 615.70 अंक के उछाल के साथ 29,561.93 अंक पर पहुंच गया था. लेकिन अंत में यह 496.40 अंक या 1.71 प्रतिशत की मजबूत बढ़त के साथ 29,442.63 अंक पर बंद हुआ. इससे पहले, यह स्तर पांच मार्च 2015 को देखा गया था.
 
इससे पहले, पिछले दो कारोबारी सत्रों में सेंसेक्स 44 अंक मजबूत हुआ था. बाजार सोमवार को होली के अवसर पर बंद था. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 152.45 अंक या 1.71 प्रतिशत की तेजी के साथ 9,087 अंक पर बंद हुआ जो अब तक का नया रिकार्ड स्तर है. इससे पहले, तीन मार्च 2015 को यह 8,996.25 अंक तक चढ़ा था.
 
बीएनपी परिबा म्यूचुअल फंड के वरिष्ठ कोष प्रबंधक कार्तिकराज लक्ष्मणन ने कहा, ‘देश में हाल में पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों में भाजपा के शानदार प्रदर्शन से बाजार में अच्छी शुरुआत हुई।’ सबसे अच्छा प्रदर्शन आईसीआईसीआई बैंक का रहा जो 5.99 प्रतिशत मजबूत हुआ. उसके बाद हिंदुस्तान यूनिलीवर (4.54 प्रतिशत), एल एंड टी (4.40 प्रतिशत), एचडीएफसी लि. (3.69 प्रतिशत), एशियन पेंट्स (3.51 प्रतिशत), मारति सुजुकी (3.02 प्रतिशत) और अडाणी पोर्ट्स (2.92 प्रतिशत) का स्थान रहा.
 
अमेरिकी स्वास्थ्य नियामक द्वारा कंपनी के मोहाली कारखाने से प्रतिबंध हटाने के बाद सन फार्मा 3.61 प्रतिशत मजबूत हुआ. सर्वाधिक लाभ में बीएसई पूंजीगत वस्तु सूचकांक रहा जो 3.06 प्रतिशत मजबूत हुआ. उसके बाद रीयल्टी (2.57 प्रतिशत), टिकाउ उपभोक्ता सामान (2.40 प्रतिशत), बैंक (1.93 प्रतिशत) तथा रोजमर्रा के उपयोग का सामान बनाने वाली कंपनियों का सूचकांक (1.60 प्रतिशत) का स्थान रहा.
 
एशिया के अन्य बाजारों में मिला-जुला रुख रहा जबकि यूरोप के प्रमुख बाजारों में शुरुआती कारोबार में कोई दिशा नहीं दिखी. निवेशकों की फेडरल रिजर्व की बैठक के नतीजे का इंतजार है. सेंसेक्स में शामिल 30 शेयरों में 26 लाभ में जबकि अन्य नुकसान में रहे.

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार