VFJ में होगी जिप्सी-मिनी ट्रक की बुलेट प्रूफिंग

On Date : 13 February, 2018, 5:13 PM
0 Comments
Share |

प्रदेश टुडे संवाददाता,जबलपुर
रक्षा मंत्रालय द्वारा वाहन निर्माणी जबलपुर (वीएफजे) के मुख्य उत्पाद स्टेलियन और एलपीटीए वाहन नॉन कोर केटेगेरी में डाले जाने सेअस्तित्व के संकट से जूझ रही निर्माणी को बुलेट पू्रफिंग का काम मिलेगा। आॅर्डिंनेस फैक्टरी बोर्ड (ओएफबी) ने व्हीएफजे में जिप्सी और मिनी ट्रक को बुलेट पु्रफ बनाने का काम देने का निर्णय लिया है। व्हीएफजे को माइंस प्रोटेक्टिव व्हीकल (एमपीवी) बनाने में महारथ हासिल है, लिहाजा बुलेट प्रूफिंग के क्षेत्र में निर्माणी अपने पैर मजबूत कर सकती है।
जानकारी के मुताबिक  वीएफजे में असेम्बल होने वाले स्टेलियन और एलपीटीए वाहन जल्द ही भारतीय सेना सीधे निजी कम्पनियों से लेने लगेगी। जिसके चलते वीएफजे में भविष्य काम की कमी का संकट गहराने की संभावना बनी हुई है। इसी के चलते आॅर्डिनेंस फैक्टरी बोर्ड और वीएफजे प्रबंधन लगातार नए कामों की तालाश में लगा है। टैंकों के कलपुर्जे तैयार करने के मामले में संभावनाएं तालाशी जा रही हैं, लेकिन यह काम  मिलने के बाद कर्मचारियों को उसमें परागत होने में समय लगेगा। लिहाजा, ओएफबी ने वीएफजे में फिलहाल बुलेट प्रूफिंग का काम बढ़ाने का निर्णय लिया है। प्रयोग के तौर पर सीआरपीएफ के लिए गश्ती वाहन मिनी ट्रक 407 की बुलेट पु्रफिंग पर काम किया जा रहा है। एक वाहन वीएफजे को बुलेट पू्रफिंग के लिए मिल गया है।
वीएफजे में है इन्फ्रास्ट्रक्चर
वीएफजे के प्लांट नम्बर 3 में वाहनों के बुलेट पू्रफिंग का काम किया जाता था, लेकिन बीते कुछ वर्षो से केवल एमपीवी ही असम्बेल किए जा रहे हैं। ओएफबी का मानना है कि जब बुलेट प्रूफिंग का इन्फ्रास्ट्रक्चर वीएफजे में मौजूद है तो उसका उपयोग किया जाना चाहिए। हाल ही में सीआरपीएफ एवं अन्य पैरा मिलिट्री फोर्स के ओर से बुलेट पू्रफ गाड़ियों की डिमांड भी बढ़ी है।


 

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार