केवल आधार कार्ड संख्या से ही भुगतान किया जा सकता है: कुमार

On Date : 01 January, 2018, 10:27 PM
0 Comments
Share |

डिजीटल इंडिया एवं कैशलेस अभियान पर एक दिवसीय कार्यशाला संपन्न
प्रदेश टुडे संवाददाता, सागर
डॉ. हरीसिंह गौर विश्वविद्यालय के केन्द्रीय पुस्तकालय हाल में डिजीटल इंडिया एवं कैशलेश अभियान पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। आयोजन के नोडल अधिकारी प्रो. दिवाकर शुक्ला, इन्चार्ज आई. टी. सेल ने बताया कि यह कार्यशाला आयोजन म. प्र. शासन के विज्ञान एवं तकनीकी विभाग के अन्तर्गत संलग्न संस्था मेप आईटी  भोपाल द्वारा प्रायोजित था।
इस संस्था के विशेषज्ञ  टी. गणेश कुमार एवं संदीप शर्मा द्वारा विभिन्न कैशलेस भुगतान तकनीकों जैसे यूपीआई, यूएसएसडी, भीम ऐप, आधार कार्ड आधारित भुगतान, रूपे कार्ड भुगतान आदि पर व्याख्यान एवं सजीव प्रशिक्षण दिया गया। विशेषज्ञ टी. गणेश कुमार ने बताया कि वर्तमान में उपलब्ध कैशलेस भुगतान तकनीके विदेशी है तथा इन पर दिया गया सेवा शुल्क विदेश में चला जाता है जबकि उपरोक्त तकनीकों में दिया गया सेवा शुल्क स्वदेश में ही रहता है। आधार कार्ड आधारित भुगतान में कोई कार्ड जेब में नहीं रखना पड़ता है केवल आधार कार्ड संख्या याद रहने पर धन का भुगतान मोबाईल फोन से हो जाता है।
कार्यक्रम का उद्घाटन वि.वि. के कुलपति प्रो. आरपी तिवारी द्वारा किया गया तथा 220 से अधिक विद्यार्थियों, कर्मचारियों, शिक्षकों ने इसमें अपनी उपस्थिति दर्ज करायी। सागर शहर के ज्ञानवीर कॉलेज, नोबल कॉलेज तथा बीटीआई आरटी कॉलेज के विद्यार्थियोंं ने सक्रिय सहभागिता दर्ज की। वि. वि. के अनेक शोध छात्र भी उपस्थित थे। कार्यशाला के कार्यक्रम के द्वितीय सत्र में सहभागी विद्यार्थियों ने कैशलेस भुगतान विषय पर आयोजित पोस्टर प्रतियोगिता, क्विज प्रतियोगिता तथा स्ट्रेटिजी मेकिंग प्रतियोगिता में भाग लिया। पोस्टर प्रतियोगिता में कु. रिचा नायक प्रथम, कु. मोनिका गौतम एवं शिवागी केशरवानी संयुक्त रूप से द्वितीय (बी. टी. आई. आर. टी. कॉलेज) तथा कु. सुषमा वर्मा तृतीय स्थान पर रही। क्विज प्रतियोगिता में यू.टी.डी. टीम प्रथम तथा ज्ञानवीर कॉलेज की टीम द्वितीय स्थान पर रही।
स्ट्रेटिजी मेकिंग में यूटीडी के मनोविज्ञान विभाग के दो शोध छात्रों की टीम प्रथम एवं नोबल कॉलेज की टीम द्वितीय स्थान पर रही। विजेताओं को प्रमाण पत्र एवं ट्रफियॉं प्रदान की गयी। कार्यक्रम का संचालन प्रो. दिवाकर शुक्ला द्वारा किया गया तथा प्रो. पीपी सिंह, डॉ. संध्या पटैल, डॉ. विवेकानंद उपाध्याय, डॉ. अनिल कश्यप, डॉ. नीलम थापा द्वारा निर्णायक एवं सहयोगी भूमिका अदा की गयी। कार्यक्रम में डॉ. पंकज तिवारी, सुनील कुमार, माधव, राकेश ठाकुर, डॉ. अर्चना मेहता आदि मौजूद रहे।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार