चंद्रयान-1 से प्राप्त आंकड़ों से चंद्रमा पर पानी के ...

On Date : 15 September, 2017, 8:53 AM
0 Comments
Share |

वॉशिंगटनः वैज्ञानिकों ने चंद्रयान-1 पर लगे एक उपकरण की मदद से पहली बार चांद की मिट्टी की सबसे ऊपरी सतह में मौजूद जल का आकलन किया है. इससे आने वाले समय में पृथ्वी के प्राकृतिक उपग्रह के अध्ययन में मदद मिल सकती है. ‘साइंस एडवांसेज’ जर्नल में प्रकाशित इस अध्ययन का आधार वर्ष 2009 में चांद की मिट्टी में जल और संबंधित अणु हाइड्रॉक्सिल की शुरुआती खोज है.

अमेरिका के ब्राउन विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने नासा के मून मिनरलॉजी मैपर के जरिए जुटाए गए आंकड़ों का इस्तेमाल किया. मैपर चंद्रयान-1 के साथ रवाना हुआ था और इसका काम यह पता लगाना था कि वैश्विक स्तर पर कितना पानी मौजूद है.

विश्वविद्यालय में पीएचडी के पूर्व छात्र शुआई ली ने कहा, ‘‘ चांद की सतह पर लगभग हर जगह पानी की मौजूदगी के संकेत मिलते हैं, यह केवल धुव्रीय क्षेत्र तक सीमित नहीं है जैसा कि पहले रिपोर्ट में बताया गया था. ’’

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार