रायफल लोड करना और खोलना तक नहीं जानते जीआरपी कर्मी

On Date : 06 December, 2017, 6:51 PM
0 Comments
Share |

90 फीसद शुगर पीड़ित, सप्ताह में दो दिन होने वाली परेड से हुआ खुलासा
प्रदेश टुडे संवाददाता,जबलपुर
100 में से 90 जीआरपी कर्मियों को शुगर है। शुगर से पीड़ित ये कर्मी जहां परेड में फे ल हो रहे हैं, वहीं इन्हें रायफल लोड करना और खोलना तक नहीं आता। तोंद बढ़ी होने की वजह से ना तो वे दौड़ने में सक्षम साबित हो रहे हैं और ना ही परेड कर पा रहे। इसका खुलासा सप्ताह में दो दिन होने वाली परेड के समय हुआ है।
फिट रहने परेड और एक्सरसाईज
जीआरपी कर्मी स्वस्थ और फिट रहें इसके लिये एसआरपी ने सप्ताह में दो दिन मंगल और शुक्रवार को होने वाली परेड को अनिवार्य करते हुए सभी कर्मियों को सुबह पुलिस लाइन पहुंचने का आदेश दिया है। बीते दिवस हुई परेड देखकर एसआरपी हेरान हो गए परेड में शमिल 90 प्रतिशत जीआरापी कर्मी हाफ रहे थे। वीपी और शुगर बढ़ने से परेड करना मुश्किल हो रहा था।
रायफल लोड और खाली करने में सक्षम नहीं कर्मी
सूत्र बताते हैं कि अधिकांश जीआरपी कर्मियों को रायफल लोड और खाली करना, मेग्जीन कहां किस तरह से लगाई जाती है यह नहीं आता। यह दृश्य परेड के दौरान एसआरपी ने अपनी आंखों से देखा। इस पर उन्होंने कर्मियों को जमकर फटकार लगाई। हालांकि एसएआरपी ने उनके स्वास्थ को लेकर चिंता भी जताई है। उन्होंने कर्मियों को रोस्टर मुताबिक ईमानदारी से ड्यूटी करने की सलाह दी है और स्वस्थ रहने के लिये टेंशन न पाले यह भी कहा है।
बर्खास्त करने की कार्रवाई होगी:एसआरपी
 एसआरपी आरएस डेहरिया ने बेपटरी हुई यात्री सुरक्षा और अपराध मुक्त करने के उद्देश्य से जीआरपी के सभी थाना और चौकी प्रभारियों को सख्त आदेश देते हुए कहा है कि कार्य में लापरवाही करने और लूट-खसौट करने वाले चाहे अधिकारी हों या फिर कर्मी किसी को बख्शा नहीं जाएगा। यात्री और फरियादी शिकायत आने पर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उनका यह भी कहना है कि ड्यूटी के दौरान प्वाइंट से गायब रहने और यात्री टेÑनों में जबरन सवार होकर अवैध वसूली करने वाले सतर्क हो जाएं। आकस्मिक निरीक्षण के दौरान ऐसे कर्मियों के खिलाफ नौकरी से बर्खास्त करने तक की कार्रवाई की जा सकती है।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार