गणेश उत्सव विसर्जन चल समारोह आज

On Date : 04 September, 2017, 10:22 PM
0 Comments
Share |

बंद का निर्णय वापस, स्वेच्छा से करें प्रतिमा विसर्जन
प्रदेश टुडे संवाददाता, विदिशा 
अंनत चर्तुदर्शी के मौके पर सनातन श्री हिन्दू उत्सव समिति के तत्वाधान में शहर के मुख्य मार्गो से भव्य चल समारोह निकाला जाएगा। रात 8 बजे से चल समारोह निकाला जाएगा। उल्लेखनीय हैं कि गणेशोत्सव और दुर्गात्सव चल समारोह में निकलने वाली बड़ी और मनमोहक झांकियों को देखने के लिए दूर दराज के ग्रामीण अंचलों से भारी संख्या में श्रदालु आतें हैं। 
प्रशासन ने बाहर से आने वाले श्रदालुओं को देखते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही बिजली पानी और सड़क के गडढ़े भरने जैसी मूलभूत व्यवस्थाओं को समय सीमा में पूरा करने के निर्देश दिए। चल समारोह अस्पताल रौड से प्रारंभ होगा जो शहर के मुख्य मार्गो से बजरिया रामलीला होते हुए बेतवा पहुंचेगा जहां श्रदालुओं और झांकी संचालकों द्वारा भगवान गणेश का विधि विधान के साथ पूजा अर्चना कर विसर्जन करेगें। विसर्जन के मामले में लंबे समय से सनातन श्री हिन्दू उत्सव समिति और प्रशासन दोनो अपनी जिद पर अड़िग थे जिसको लेकर आमन सामने की स्थिति बन गई थी। समिति ने चल समारोह के दिन विदिशा बंद का आव्हान तक कर दिया था। टकराव की स्थिति को भांपते हुए व्यापार महासंघ ने समाधान निकालने सीएम से मिले। 
सीएम ने महासंघ अध्यक्ष और प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि लोगों को अपनी इच्छा से मूर्ति विसर्जन करने की बात कही। सोमवार को कलेक्टर अनिल सुचारी ने समिति के पदाधिकारियों को बुलाकर चर्चा की और अधिकारिक रूप से सीएम के निर्देश को बताया तब कहीं जाकर समिति के पदाधिकारियों ने विदिशा बंद का निर्णय वापिस लिया और शांति पूर्ण तरीके से चल समारोह निकालने के लिए झांकी संचालकों से अपील की। समिति के महामंत्री राहुल कुशवाह ने शहरवासियों और झांकी संचालकों से अपील करते हुए कहा शांतिप्रिय तरीके से चल समारोह निकालने में सहयोग करे। 
इस मामले में कलेक्टर अनिल सुचारी का कहना हैं कि विसर्जन को लेकर प्रशासन ने जानकी कुंड में सारी व्यवस्थाएं की है। साथ ही कोई प्रतिबंध नहीं हैं। श्रदालु प्रतिमाओं को अपनी सुविधा अनुसार विसर्जन कर सकतें हैं।
वहीं समिति अध्यक्ष संजीव शर्मा का कहना हैं कि प्रशासन ने समिति को आश्वसन किया हैं कि झांकी संचालक अपनी स्वेच्छा से प्रतिमा विसर्जन कर सकतें हैं। इसके बाद विदिशा बंद का आव्हान वापिस ले लिया हैं। सभी झांकी संचालकों से अपील हैं कि सावधानी और सुरक्षा के साथ अपनी स्वेच्छा से नदी या कुंड में विसर्जन करें।
चाक चौबंद व्यवस्था रहेगी
इधर पुलिस प्रशासन ने चल समारोह को देखते हुए चाक चौबंद व्यवस्था की हैं। सीएसपी, डीएसपी, आधा दर्जन टीआई, पुलिसअधिकारियों के अलावा 200 से अधिक जवान के अलावा सुरक्षा समिति के सदस्य, विशेष पुलिस अधिकारियों की डयूटी लगाई हैं। इसी के साथ मजिस्टेÑट कलेक्टर, एसपी, एडीएम, एसडीएम, नायब तहसीलदार सहित प्रशासनिक अधिकारी चल समारोह पर नजर रखेंगे।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार