रेलवे की मौजूदा स्थिति के लिए तृणमूल, कांग्रेस जिम्मेवार: गोयल

On Date : 13 February, 2018, 9:43 PM
0 Comments
Share |

नई दिल्ली: रेल मंत्री पीयूष गोयल ने तृणमूल कांग्रेस सांसद डेरेक ओ ब्रायन पर पलटवार करते हुए आज कहा कि रेलवे की मौजूदा स्थिति के लिए तृणमूल और कांग्रेस पार्टी जिम्मेवार हैं। ब्रायन ने एक निजी टेलीविजन चैनल के माध्यम से गोयल से 12 प्रश्न पूछे हैं। इनमें बुलेट ट्रेन की ऊँची लागत, मूल्य ह्रास आरक्षित कोष, राजस्व वृद्धि दर आदि पर सवाल उठाए गए हैं। गोयल ने यहां एक कार्यक्रम के दौरान इस संबंध में पूछे जाने पर कहा रेलवे को इस स्थिति में पहुंचाने के लिए तृणमूल कांग्रेस और कांग्रेस जिम्मेवार है। उन्होंने आरोप लगाया कि जब तृणमूल कांग्रेस के दिनेश त्रिवेदी और उससे पहले ममता बनर्जी रेल मंत्री थे, उस समय उन्होंने रेलवे का बुरा हाल किया। देश की बाकी सभी मेट्रो ट्रेनों नेटवर्क का संचालन राज्य सरकारें कर रही हैं, लेकिन बनर्जी ने कोलकाता मेट्रो का Þबोझ रेलवे के माथे मढ़ दिया।
 रेल मंत्री ने कहा कि ब्रायन को रेलवे के परिचालन अनुपात के बारे में कोई जानकारी नहीं है। वह मूल्य ह्रास आरक्षित कोष पांच हजार करोड़ रुपए से घटाकर 500 करोड़ रुपए करने का आरोप लगा रहे हैं। यह पांच हजार करोड़ रुपए उस समय होता था जब रेलवे को यह राशि बजट से दी जाती थी। अभी यह राशि रेलवे से दी जा रही है।  उन्होंने राजस्व वृद्धि दर पर ब्रायन की गणना पर व्यंग्य करते कहा कि तृणमूल सांसद को अपनी गणना देश के सामने रखनी चाहिए ताकि हम लोग भी उनसे सीख सकें। उन्होंने कहा कि जब संसद में हम बजट सत्र के दूसरे चरण में चर्चा करेंगे तब तृणमूूल के सभी प्रश्नों का जबाव दिया जाएगा।

गोयल ने कहा कि सरकार ने अगले वित्त वर्ष के बजट में रेलवे के लिए सबसे ज्यादा राशि पश्चिम बंगाल को दी है, लेकिन वहां की सरकार के असहयोगात्मक रुख के कारण यह पैसा भी खर्च नहीं हो पाना मुश्किल है। उन्होंने आरोप लगाया कि ममता बनर्जी की सरकार परियोजनाओं के लिए जमीन आवंटित नहीं कर रही है। जब वह जमीन देगी तभी पैसा खर्चा हो पाएगा।  रेलवे सुरक्षा के बारे में उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार ने 73 हजार करोड़ रुपए का पूंजी निवेश किया है, तृणमूल कांग्रेस के रेलमंत्रियों ने संप्रग सरकार से इस मद में इतनी राशि क्यों नहीं आवंटित करवा ली। रेल मंत्री ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस और कांग्रेस को जनता ने अच्छा सबक सिखाया है और आगे भी सिखाएगी।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार