जैविक कचरे से बनेगी ग्रीन खाद

On Date : 06 December, 2017, 6:08 PM
0 Comments
Share |

विशेषज्ञ ने पार्क कर्मचारियों को दिया प्रशिक्षण
प्रदेश टुडे संवाददाता, ग्वालियर
शहर के पार्कों से निकलने वाले जैविक कचरे से अब नाडेफ टांका के माध्यम से ग्रीन खाद बनाई जाएगी, जिसका उपयोग उन्हीं पार्कों में पौधों को बढाने के लिए किया जाएगा। इसके लिए निगम के पार्क विभाग के कर्मचारियों को जैविक कचरे से ग्रीन खाद बनाने का प्रशिक्षण विशेषज्ञ वीरेन्द्र गुप्ता द्वारा दिया गया।


नगर निगम के पार्क विभाग के कार्यालय परिसर में आयोजित जैविक कचरे से ग्रीन खाद बनाने के प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान वीरेन्द्र गुप्ता ने बताया कि नाडेफ टांका के माध्यम से जैविक कचरे से मात्र 120 दिन में बहुत ही उपजाऊ खाद बनाई जा सकती है, जिससे हमारे पार्कों में लगे पेड पौधों का उपजाऊ खाद मिलेगी तथा शहर को कचरे से मुक्ति भी मिलेगी।


प्रशिक्षण के दौरान वीरेन्द्र गुप्ता द्वारा बताया गया कि किस प्रकार से नाडेफ टांका में जैविक कचरे व अन्य अनुपयोगी सामाग्री का उपयोग कर ग्रीन खाद बनान है तथा उन्होंने बताया कि यह बहुत ही आसान है और छोटे से प्रशिक्षण के बाद कोई भी इस प्रकार की खाद का निर्माण कर सकता है। उल्लेखनीय है कि निगमायुक्त विनोद शर्मा द्वारा शहर के सभी 25 क्षेत्राधिकारियों के माध्यम से प्रत्येक क्षेत्र में स्थित पार्कों में लगभग 125 नाडेफ टांका बनवाए गए हैं जिनमें जैविक कचरे से ग्रीन खाद का निर्माण किया जाना है तथा इस खाद का उपयोग उन्ही पार्कों में किया जाएगा जिससे उस पार्क की मिटटी को अधिक उपयोगी एवं उपजाउ बनाया जा सके। इन सभी नाडेफ टांकों में अब कर्मचारियों द्वारा ग्रीन खाद बनाई जाएगी तथा आज प्रशिक्षित हुए कर्मचाारी अब निगम के पार्कोंं में कार्य कर रहे अन्य कर्मचारियों को भी इसका प्रशिक्षण प्रदान करेगें।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार