तहसीलदारों के बीच आधी आधी बंट गई कोर्ट !

On Date : 12 October, 2017, 3:58 PM
0 Comments
Share |

प्रशासनिक संवाददाता,जबलपुर
जिला प्रशासन के मुख्यालय कलेक्ट्रेट में राजस्व और भू-अभिलेख के बीच मची खींचतान में शासन के नियम-कायदों और सिद्धांतों की स्थिति देख जानकार हैरान हैं।  बताया जा रहा है कि एक माह बाद दोबारा लोकमन कोरी को पुन: केंट तहसील न्यायालय आवंटित कर दिया गया है जबकि उन्हें एसएलआर-टू का प्रभार लेने का आदेश पहले से जारी है। उधर ,जबलपुर तहसील में दो-दो सशक्त नायब तहसीलदारों (विवेक मुले और रिपुदमन सिंह) के पास प्रभार नहीं होने के तथ्यों की अनदेखी करते हुए न्यायालयीन कार्यों को तहसीलदारों के बीच आधा-आधा बांटा गया है।
 खबर है कि तहसीलदार विवेक मुले को गोहलपुर में अटैच कर दिया गया है तो पहले ही आधा रांझी संभाल रहे सतनामी को अब ओमती का  जिम्मा भी सौंप दिया गया है। काम के हो रहे इस तरह बंटवारे की खबर ने जिला प्रशासन के गलियारों में हलचल मचा दी है। जानकार इस मामले पर यह कहने से नहीं चूक रहे कि यदि केंट में नायब तहसीलदार की इतनी जरुरत थी तो एसएलआर-टू का प्रभार जबरन लोकमन के कंधे पर क्यों लादा गया। इस चक्कर में पिछले कई दिनों तक केंट तहसील न्यायालय में कामकाज प्रभावित रहा, इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा। चर्चा यह भी है कि अब एक तहसीलदार दो न्यायालयों का काम देखेगा। हालांकि मामले की अभी आधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं हो सकी है, लेकिन सूत्रों के हवाले से यह खबर पक्की है। बताया जा रहा है कि इस सेटिंग के लिए बड़े से लेकर छोटे तक और अपर से लेकर डिपर तक जमकर लॉंबिंग की गई है। इसके चलते एक तहसीलदार को दो-दो न्यायालय देखने से तक परहेज नहीं किया गया है। नतीजतन इस समय जिला प्रशासन के भीतर दोस्त और दुश्मनों में जंग छिड़ी हुई जिसका नतीजा संबधितों की फाइलें बार-बार ऊपर से नीचे इस कमरे से उस कमरे, इस टेबिल से उस टेबिल पर घूम रही हैं।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार