प्रदेश के स्कूलों की रैकिंग में इंदौर 51 वें नंबर पर

On Date : 06 November, 2017, 9:48 PM
0 Comments
Share |

इंदौर। आईआईटी और आईआईएम वाले शहर इंदौर को भले ही शिक्षा का गढ़ माना जाता हो, लेकिन इसे हाई स्कूल और हायर सेकंडरी स्कूलों की ग्रेडिंग में 51 वे नंबर पर रखा है। यह रैंकिंग स्कूल शिक्षा विभाग ने सरकारी स्कूलों को लेकर जारी की है, जिसके हिसाब से इंदौर आखिरी पायदान पर है। छात्रों को दी जा रही सुविधा और योजनाओं के आधार पर राज्य शासन द्वारा प्रदेश के सरकारी स्कूलों की ग्रेडिंग की जा रही है।

सितंबर से ग्रेडिंग की प्रक्रिया शुरू हुई है। इंदौर जिले में कुल 157 स्कूल हैं, जिनकी ग्रेडिंग की जा रही है। स्कूल प्राचार्यों को सेल्फ असेसमेंट प्रक्रिया के तहत स्कूल संबंधित जानकारी आॅनलाइन पोर्टल पर दर्ज करना है।

इन बिंदुओं पर हुआ असेसमेंट
स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा हर महीने स्कूलों की ग्रेडिंग की जाएगी और इसके आधार पर स्कूल व जिले को रैंक दी जाएगी। प्राचार्यों को स्कूलों के इंफ्रास्ट्रक्चर, सुविधाएं, छात्रों की प्रगति, शिक्षक कार्य प्रदर्शन, शाला प्रबंधन, आवंटन का उपयोग, स्वास्थ्य एवं सुरक्षा सहित करीब आठ बिंदुओं पर स्कूलों का सेल्फ असेसमेंट किया जाना है। सितंबर में किए गए असेसमेंट में समग्र छात्रवृति मैपिंग व प्रोफाइल अपडेशन, निशुल्क साइकिल वितरण की जानकारी, राष्ट्रीय माध्यमिक अभियान के तहत जो राशि मिली उसका उपयोग, सीएम हेल्पलाइन पर लंबित शिकायतों की जानकारी के आधार पर रैंकिंग दी गई। इंदौर की रैंकिंग कम होने की मूल वजह यह है कि अधिकांश स्कूलों के प्राचार्य कम्प्यूटर फ्रेंडली नहीं है। इस कारण उन्होंने आॅनलाइन ज्यादातर जानकारी नहीं भरी। कई प्राचार्यों ने सितंबर माह के असेसमेंट में अक्टूबर दर्ज किया, जिससे उनकी एंट्री मान्य नहीं हुई। कई स्कूल तय समय सीमा में भी आॅनलाइन पोर्टल पर जानकारी नहीं भर सके।

सुधार करेंगे
स्कूल प्राचार्यों द्वारा तय समय में और सही जानकारी नहीं देने के कारण रैंकिंग कम हुई हैं। हमने प्राचार्यों को कार्यशाला में समझाया था। जिले की रैंकिंग सुधारने के लिए प्रयास करेंगे। रैंकिंग में लक्ष्य से 50 फीसदी से कम अंक होने पर मार्किंग शून्य हो जाती है।
नरेंद्र जैन, अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक

इंदौर के स्कूलों की यह रही स्थिति
हाई स्कूल व हायर सेकंडरी स्कूल-    157
ए ग्रेड -    1 स्कूल
बी ग्रेड-    35 स्कूल
सी ग्रेड -    73 स्कूल
डी ग्रेड -    30 स्कूल
कितने स्कूलों ने जानकारी नहीं दी-    18

एक ही स्कूल आया ए ग्रेड में
स्कूलों के आधार पर जिलों की ग्रेडिंग में ए और बी ग्रेड में कोई भी जिला नहीं है। 50.3 अंक लाकर उज्जैन सभी जिलों में अव्वल आया है वह सी ग्रेड में है। इंदौर 17.31 अंक लाकर डी ग्रेड में है। इंदौर के 157 स्कूलों की रैंकिंग में सिर्फ मोरोज का ज्ञानोदय स्कूल ही ए ग्रेड में आया है।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार