भक्त निवास, अस्पताल की सौगात देंगे खजराना गणेश

On Date : 15 September, 2017, 9:46 PM
0 Comments
Share |

इंदौर। भक्तों के तारणहार खजराना गणेश अब शहर के विकास में भी मददगार साबित होंगे। मंदिर को ग्रामीण क्षेत्र में दान में मिली आठ एकड़ जमीन को शहरी क्षेत्र से बदलने की तैयारी की जा रही है। प्रशासन ने इसकी योजना तैयार कर ली है। शहरी क्षेत्र की जमीन पर भक्त निवास, अस्पताल, गोशाला सहित जनकल्याण के लिए उपयोगी निर्माण किया जाएगा। नजूल विभाग शहर की सरकारी जमीन की जानकारी जुटाकर मंदिर प्रशासक और कलेक्टर को भेजेगा। खजराना गणेश मंदिर की ख्याति दूर-दूर तक है और मनचाही मुराद पूरी होने पर भक्त चढ़ावा भी चढ़ाते हैं। सात साल पहले ऐसे ही एक भक्त ने देपालपुर के गिरोदा गांव की आठ एकड़ जमीन मंदिर को दान में दे दी थी। सरकारी रिकॉर्ड में यह जमीन खजराना गणेश मंदिर के नाम पर दर्ज है। मंदिर के खजाने में हर महीने लाखों रुपए का चढ़ावा चढ़ता है और उस राशि का उपयोग जनसेवा से जुड़े कामों में भी होने लगा है। मंदिर परिसर में कई प्रकल्प संचालित भी हो रहे हैं। प्रबंधन समिति ने जमीन की अदला-बदली करने का फैसला इसलिए लिया है, ताकि उस जमीन का बेहतर उपयोग हो सके।
 
गणपति बप्पा की समाजसेवा
मंदिर परिसर में एक ट्रस्ट द्वारा सस्ते दामों पर मेडिकल जांच, उपचार, डायलिसिस आदि किया जा रहा है। एक अन्न क्षेत्र भी मंदिर परिसर में संचालित हो रहा है, जहां गरीब वर्ग निशुल्क भोजन पा सकता है। परिसर में ही वृद्धा आश्रम के लिए एक भवन तैयार किया गया है और गरीब लोगों के लिए मुफ्त में रहने के लिए रैन बसेरा भी बना है। मंदिर में चढ़ने वाले हार-फूलों से परिसर में ही जैविक खाद भी तैयार हो रही है। आने वाले दिनों में एक हॉल भी बनेगा, जहां परिवार धार्मिक कार्यक्रम भी आयोजित कर सकेंगे।
 
 
भक्तों के काम आएगी जमीन
मंदिर की आठ एकड़ जमीन के बदले प्रशासन शहर में ही जमीन देगा। इससे उसका उपयोग भक्तों के लिए हो सकेगा। भक्त सदन, अस्पताल या अन्य कामों के लिए वहां निर्माण होगा। 
अशोक भट्ट, पुजारी, खजराना गणेश मंदिर

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार