क्षिप्रा शुद्धिकरण अभियान में मंत्री ने किया श्रमदान

On Date : 28 February, 2016, 9:06 PM
0 Comments
Share |

स्वयं सेवी संस्थान, जनप्रतिनिधि भी कर रहे कार्य
उज्जैन ।
कृषि विकास एवं किसान कल्याण मंत्री गौरी शंकर बिसेन ने शिप्रा शुद्धीकरण अभियान में भाग लेकर रविवार को स्वयं श्रमदान किया। श्री बिसेन पहले तो सुनहरी घाट पहुंचकर घाट व उसके आसपास चारों ओर नजरें दौड़ाई उसके बाद उन्होंने शिप्रा सफाई में अपना भरपूर योगदान दिया। सफाई अभियान में उन्हें अन्य जनप्रतिनिधि तगारी में मिट्टी डालकर उनके हाथों में देने लगे। लेकिन श्री बिसेन अपने से तगारी भरकर स्वयं ट्राली तक मिट्टी से भरी तगारी उड़ेलते रहे। ऐसा एक बार नहीं दो बार नहीं बल्कि बार-बार होता रहा। इसके बाद वे सुनहरी घाट के नीचे स्थित घाटों का अवलोकन भी किया। अवलोकन के दौरान उन्हें उन्हीं के विभाग के शासकीय सेवक श्रमदान करते दिखे। उन्होंने उनका होसला अपजाई करते हुए जलकुम्भी निकालने में श्रमदान किया। वे इस दौरान चक्रतीर्थए वाल्मिकी घाट, मंगलनाथ घाट पर हुये घाट निर्माण, सड़क निर्माण, वृक्षारोपण कार्यों का अवलोकन भी किया।
शिप्रा शुद्धीकरण एवं जनजागरण अभियान के तहत रविवार को शिप्रा तट के सुनहरी घाट से वाल्मिकी घाट तक शिप्रा नदी में से मिट्टी निकालने का कार्य कृषि विभाग के अधिकारी, कर्मचारियों, स्वयं सेवी संस्थाओं के पदाधिकारियों और जन प्रतिनिधियों द्वारा किया गया। ट्रेक्टर ट्राली में भरकर मिट्टी निकाली गई। कृषि मंत्री श्री गौरी शंकर बिसेन ने भी सुनहरी घाट पर स्वयं फावड़ा चलाकर तगारी भर कर मिट्टी ट्रेक्टर ट्राली में डाली। इस मौके पर कलेक्टर कवीन्द्र कियावत एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी, कर्मचारी, स्वयं सेवक भी उपस्थित थे। नोडल विभाग कृषि विभाग के इन्दौर उज्जैन संभाग के अधिकारियों ने शिप्रा शुद्धीकरण के लिए श्रमदान किया।

एक हजार हैक्टेयर में सब्जियां
सिंहस्थ 2016 में बड़ी संख्या में उज्जैन आने वाले श्रद्धालुओं के लिए सब्जियों की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करने हेतु कृषि विभाग द्वारा किसानों को गेहूं की फसल काटने के बाद सब्जियां लगाने हेतु प्रेरित किया गया है। उज्जैन जिले सहित अन्य जिलों में लगभग एक हजार हैक्टेयर क्षेत्र में किसानों द्वारा विभिन्न प्रकार की सब्जियां लगाई गई है। इन सब्जियों की आपूर्ति सिंहस्थ में उज्जैन आने वाले श्रद्धालुओं के लिए की जायेगी।

नहीं होगी धन की कमी
सिंहस्थ 2016 के तहत विभिन्न घाटों पर चल रहे निर्माण कार्यों के निरीक्षण के दौरान कृषि मंत्री श्री गौरी शंकर बिसेन ने कहा कि सरकार सिंहस्थ में चले रहे विकास एवं निर्माण कार्यों को पूरा करने में धन की कमी  आड़े नहीं आ रही है। सिंहस्थ में 3300 करोड़ रुपए की राशि विकास एवं निर्माण कार्यों पर खर्च की जा रही है। अगले वित्तीय वर्ष में भी सिंहस्थ कार्योंं के भुगतान के लिए 300 करोड़ रुपए का बजट प्रावधान किया गया है। उन्होंने देश विदेश के लोगों का आव्हान किया कि वे सिंहस्थ दर्शन के लिए उज्जैन आये और शिप्रा में डुबकी लगाकर अमृत पान का सुअवसर प्राप्त करे। उन्होंने समस सीमा में उच्च गुणवत्ता के साथ काम करने की बात कही। यहां सुरक्षा सहित अन्य व्यवस्था के निर्देश भी दिए।

वाल्मिकी धाम पर श्री महन्त से भेंट
कृषि मंत्री श्री गौरी शंकर बिसेन ने वाल्मिकी धाम पर जाकर स्वामी श्री सोहनदास की समाधी पर शीश नवाया। उन्होंने यहां महन्त बालयोगी श्री उमेशानंद महाराज से भेंट कर उनका आशीर्वाद प्राप्त किया तथा उनसे सिंहस्थ में चल रहे विकास एवं निर्माण कार्यों के बारे में चर्चा की।
उन्होंने  शिक्षा मंत्री श्री जैन की कुशलक्षेम जानी।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार