मेंटेनेंस के नाम पर लाइट गुल

On Date : 14 May, 2017, 6:17 PM
0 Comments
Share |

विद्युत वितरण व्यवस्था बदहाल, जनता परेशान
धार।
शहर में जरा से हवा , पानी और आंधी अगर आ जाए तो ये समझ लीजिए कि कई कॉलोनियों की लाईट गुल होते हुए देर नही लगती है। शहर क ी विद्युत वितरण व्यवस्था बेहाल है। जगह जगह जर्जर टांसफार्मर झुलते लटकते तार खुद अपनी कहानी बयां करते नजर आतें हे कि वितरण व्यवस्था के क्या हाल है कई कालोनियों में देखने में आया हे कि बरसात की बात तो छोड दिजिए कभी बे-मौसम बादल बरस जाए तो कुछ डिपीयो में  फाल्ट हो जाता है ओर आग लग जाती है तो कही शार्ट सर्कीट की वजह से कालोनिया अंधेरे में डूब जाती है जिसके चलते लोगो को परेशानियों का सामना करना पडता हे ओर जब कभी एसी समस्या आती हे तो बिजली विभाग के नुमाइन्दे पहले तो फोन उठाते ही नही हे और गलती से फोन रिसीव कर लिया तो सही जवाब देने में आनाकानी करते हैं। इनका टोल फ्री हेल्पलाईन नंबर कस्टमरो के लिए सिर्फ अंधेरी रातों में टाईमपास करने के काम में आता है?
पेड़ की टहनिया कट गई तो हो गया मेंटेनेंस
हर वर्ष मानसून पूर्व मेंटेंनेन्स के नाम पर तारोें के पास तक पहुचे झाड़ ओर उनकी डगालियों को कांटते हुए देखा जा सकता है मगर जर्जर हो रहे डिपी  व जर्जर तारों को हटाकर नए तारो को विद्युत मंडल नही डालता तब तक मेंटनेंस के नाम पर मात्र इसे विद्युत मंडल की औपचारिक्ता ही कहेंगे।

अभी मानसुन में देरी है तो अगर अभी भी विद्युत मंडल अपना मेंटनेंस का कार्य सही गति से करे तो लोगों को बारिश के मौसम में अंधेरे से कम से कम छुटकारा तो मिलेंगा। मेंटेनेंस के नाम पर भी कई जगह लाईट गूल होती रहती है जिससे भी लोगों को परेशनियों का सामना करना पड़ता हैं।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार