मप्र रत्न से ‘फ्रेंड्स’ को करेंगे सम्मानित: CM

On Date : 04 January, 2018, 2:21 PM
0 Comments
Share |

संघ की संगठनों को सीख, CM ने NRI निवेशकों से किया आह्वान
इंदौर, ब्यूरो।
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि फ्रेंड्स आफ एमपी में आए मित्र निवेश का नहीं प्यार का सौदा करने के लिए यहां आए हैं। हम आपसे दिल से, प्यार से, स्नेह से, आत्मीयता से जुड़ना चाहते हैं। मध्यप्रदेश में आप घूमें और यहां के अनुकूल औद्योगिक माहौल को देखें। आपकी इच्छा है तो निवेश करें। जो लोग दूसरे देश में काम कर रहे हैं, हम उन्हें जोड़ना चाहते हैं। इसलिए फ्रेंड्स आफ एमपी का विचार मन में आया है। मैं खुली आंखों से सपना देखता हूं और उसे पूरा करने के लिए पूरी ताकत लगाता हूं। सीएम चौहान ने ये बातें इंदौर के एक होटल में फ्रेंड्स आफ एमपी कान्क्लेव के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए कहीं।  मुख्यमंत्री ने कहा कि एनआरआई मित्रों को हर साल मध्यप्रदेश रत्न से सम्मानित किया जाएगा। इस दौरान मुख्य सचिव बसंत प्रताप सिंह ने मध्यप्रदेश के दशकों में हुए विकास की जानकारी दी। कान्क्लेव में मुख्यमंत्री चौहान ने उद्योग मंत्री राजेंद्र शुक्ला की मौजूदगी में इंडस साफ्टवेयर के फाउंडर सतिंदर सिंह रेखी, इंदौर के मूल निवासी व लंदन में डिप्टी मेयर राजेश अग्रवाल, अमेरिका निवासी जितेंद्र सिंह मुछाल, सिंगापुर में ओमनी यूनाइटेड कम्पनी बनाने वाले जीएस सरीन, टेक महिन्द्रा के सीईओ व मैनेजिंग डायरेक्टर सीपी गुरनानी, भोपाल के आईटी इंजीनियर अनुराग असाटी और सुनील नायक का सम्मान किया। इन्हें प्राइड आफ एमपी सम्मान दिया गया।

महापौर ने बताया ऐसे बने नम्बर वन
महापौर मालिनी गौड़ ने इस दौरान इंदौर शहर की सफाई व्यवस्था के लिए नगर निगम अमले को जिम्मेदार बनाने और उत्प्रेरित कर सफाई में ब्रांड बनाने का काम किया जिसके चलते देश में नम्बर वन शहर इंदौर बना है। उन्होंने कहा कि हस स्वस्थ, स्वच्छ और ग्रीन इंदौर कांसेप्ट पर काम कर रहे हैं।

CS बोले-सारी बीच नारी है कि नारी बीच सारी है
मुख्यसचिव सिंह ने अपने संबोधन के दौरान कई जुमलों का भी उपयोग किया। पावर सेक्टर पर प्रजेंटेशन के दौरान उन्होंने कहा कि सारी बीच नारी है कि नारी बीच सारी है कि नारी की ही सारी है कि सारी ही की नारी है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि हम ही हम हैं तो क्या हम हैं और तुम ही तुम हो तो क्या तुम हो? इस तरह के जुमलों से सीएस ने सभा में मौजूद निवेशकों की तालियां बटोरीं।

बस्ती-बस्ती दलित युवाओं तक जाएं RSS के संगठन
उज्जैन, भोपाल, ब्यूरो। महाकाल की नगरी उज्जैन के माधव सेवा आश्रम में चल रही आरएसएस की बैठक के अंतिम दिन आज दलितों को संघ से जोड़ने पर बात की गई। इसके अलावा संघ द्वारा चलाए जा रहे समरसता अभियान को अब दलित बस्तियों पर फोकस करने की रणनीति पर मंथन किया गया।  बैठक के अंतिम दिन संघ प्रमुख मोहन भागवत ने सुबह के सत्र में संघ के अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल के प्रतिनिधियों  से इस संबंध में सुझाव लिए। बैठक में तय किया कि संघ अब दलित समाज को अपने साथ जोड़ने के लिए काम करेगा। इसमें युवाओं पर खास फोकस होगा। संघ में अब प्रमुख पदों पर दलित समाज के लोगों को पदों से नवाजने पर भी बात की गई। सूत्रों की माने तो बैठक में तय किया गया कि जनवरी से अक्टूबर तक इसे लेकर अभियान चलाया जाएगा और अक्टूबर में होने वाली संघ की अखिल भारतीय स्तर की बैठक में इसकी समीक्षा की जाएगी।  बैठक में बताया गया कि दलित बस्तियों बस्तियों में सामूहिक भोज के कार्यक्रम आयोजित कर जातिप्रथा की कुरीति को मिटाने के लिए काम किया जाएगा बैठक में कुछ अन्य समाज के लोगों के द्वारा करवाए जा रहे धर्मान्तरण पर चिंता जताते हुए इसे रोकने की रणनीति पर बात की गई।

1 साल में बढ़े 72 हजार स्वयंसेवक
बैठक में बताया गया कि पिछले एक साल में देशभर की शाखाओं में संघ के 72 हजार 800 स्वयंसेवक बढ़े हैं। बैठक में साप्ताहिक मिलन की संख्या बढ़ाने का भी निर्णय लिया गया।

भारत माता मंदिर का लोकार्पण आज
उज्जैन में आज देश के पहले सबसे बड़े भारत माता मंदिर का लोकार्पण किया जाएगा इसमें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह, संघ प्रमुख मोहन भागवत समेत संघ के अन्य वरिष्ठ पदाधिकारी शामिल होंगे। 2012 में  इस मंदिर का निर्माण कार्य शुरू हुआ था इस मंदिर में 14 फीट ऊंची भारत माता की संगमरमर की प्रतिमा स्थापित की गई है।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार