मक्के के समर्थन मूल्य, जय शाह पर मौन रहे बिसेन

On Date : 12 October, 2017, 4:00 PM
0 Comments
Share |

उत्पादन बढ़ना अच्छी बात, लेकिन अब फसल व्यापारी से खरीदेगी सरकार
जबलपुर।
राज्य सरकार में कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री गौरीशंकर बिसेन का कहना है कि जबलपुर जिले में मक्के का रकबा बढ़ना उत्पादन के दृष्टिकोण से अच्छी बात है, लेकिन इसे समर्थन मूल्य की बात वे टाल गए हैं। वे पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के पुत्र जय शाह की कंपनी का टर्न ओवर बढ़ने के  सवाल पर भी चुप्पी साध गए।
मंत्री बिसेन के मुताबिक चूंकि मौसम के कारण किसानों के पास विकल्प नहीं था इसलिए मक्का बोया गया है और सोयाबीन का रकबा क्रमश: समाप्त हो रहा है। छिंदवाड़ा-सिवनी आदि का उदाहरण देते हुए उन्होंने अपनी बात स्पष्ट की। मंत्री बिसेन के मुताबिक समर्थन मूल्य दलहनी फसलों को पहले से दिया जा रहा है। बता दें कि जिले में मक्के का रकबा बढ़ने से किसान इसके लिए समर्थन मूल्य की मांग कर रहे हैं। चूंकि संभाग के ही कुछ जिलों में शासन द्वारा मक्का समर्थन मूल्य पर खरीदा जाता है इसलिए मौसम की मार को झेल लेने वाली इस फसल को लेकर किसानों को सरकार से काफी उम्मीद है।
आज यहां सिहोरा विकासखंड के मोहतरा, मझौली के स्टेडियम ग्राउंड, तथा पाटन में कृषि उपज मंडी में आयोजित कार्यक्रमों में भाग लेने जबलपुर आए कृषि मंत्री बिसेन सर्किट हाउस क्रमांक एक में पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। चर्चा के दौरान मंत्री बिसेन ने भावांतर योजना को किसानों के लिए काफी फायदेमंद बताते हुए कहा कि 16 अक्टूबर को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सागर जिले से इसका शुभारंभ करने वाले हैं। हालांकि सरकार इस योजना का नाम बदलने पर विचार कर रही है। 30 प्रतिशत से कम बारिश वाले जिलों को सूखा में शामिल करने की बात कही। कांग्रेस पार्टी के सम्बंध में मंत्री बिसेन का कहना है कि वहां चल रही उठापटक उनका पारिवारिक मामला है। मंत्री बिसेन ने भाजपा नेता भारत सिंह यादव, ग्रामीण अध्यक्ष शिव पटैल, पूर्व अध्यक्ष आशीष दुबे, कलेक्टर महेशचंद्र चौधरी, एसपी शशिकांत शुक्ला आदि भी सर्किट हाउस पहुंचे।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार