सीजन की सबसे ‘गरम’ रही गुजरी रात

On Date : 21 April, 2017, 2:44 PM
0 Comments
Share |

पसीने से नहाए लोग, दिन में भी दिखा असर, नमी के कारण बढ़ी चिपचिपाहट
जबलपुर।
बीती रात चल रही गर्मी की सबसे ‘हॉट-नाइट’ रही। रात की शीतल हवाओं से ‘हीट स्ट्रोक’ ने आंख से आंख मिला कर बात की। पश्चिमी हवाएं चलीं, लेकिन अड़ियल ट्रेम्प्रेचर उतरने का नाम नहीं ले रहा था। पूरी रात पारा 30 पार था। सुबह कुछ मिनिट के लिए ही ये 28.2 के अंक तक उतरा,  लेकिन ये अंक भी सीजन का सबसे अधिक था। इस बेहद ‘हॉट नाइट’ का जलवा सुबह तक बरकरार था। अलमस्त सूरज ने मार्निंग भी ‘हॉट’ कर दी। दिन का तापमान खतरनाक नहीं था, पर रात से बनी मानसिक स्थिति ने लोगों का ‘डे’ भी ‘हॉट’ कर दिया। मौसम विभाग का कहना है कि आने वाले दिनों में गर्मी और जलवे दिखाएगी।
पहली बार इतनी गरम हुई निशा
रात का पर्याय कही जाने वाली ‘निशा’ इस सीजन में पहली बार इतनी ‘गरम’ हुई। सूर्यास्त से सूर्योदय तक मामला बेचैन करने वाला रहा। कल रात को शादी सहित सार्वजनिक समारोहों में गए लोगों को लगने लगा था कि आज की रात कहर बरपाने वाली है। मौसम विभाग के आंकड़ों ने सुबह ये बात सिद्ध भी कर दी। पहली बार ऐसी रात आई, जब कूलर-पंखों ने जवाब दे दिया। तपते-सुलगते रहे लोगों ने करवटें बदल कर रात गुजारी।
नमी के कारण भी बेचैनी
वातावरण में आई नमी के कारण भी बेचैनी अनुभव की गई। सुबह आर्द्रता 29 प्रतिशत थी, जो सूरज चढ़ने के साथ बढ़ती गई। उमस-बेचैनी के चलते सुबह की दिनचर्या प्रभावित हुई। आज मार्निंग वॉक करने वालों में पहली बार आलस देखा गया। वहीं सब्जी-दूध, फल-अखबार के कारोबार में भी मंदी रही। 6 बजे ही गर्मी ने सबका बुरा हाल कर दिया था। आज आम दिनों की तुलना ग्वारीघाट में स्नान करने वालों की भीड़ अधिक देखी गई।

दिन में भी रहा असर
गर्मी के असर से दिन भी सराबोर रहा। हालांकि पश्चिमी हवाओं के चलते आज भी कल की तरह पारा 40-41 के आसपास ही रहने की संभावना है। 14 किमी प्रतिघंटे वाली रफ्तार की पश्चिमी हवाओं के कारण कल का अधिकतम तापमान 40.8 था। आज हवा की रफ्तार 2 किमी प्रतिघंटे कम हुई। यही कारण था कि पारे की उछाल में खास फर्क नहीं था। कल 12 बजे तापमान 38.5 था और आज 38.4 है। मौसम विभाग ने बताया कि हवाओं की दिशा बदलते ही तापमान बढ़ेगा।

भीषण गर्मी में एक-एक बूंद पानी को तरस रही छात्राएं
रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय (आरडीयू) के कस्तूरबा गांधी महिला छात्रावास में इस भीषण गर्मी में छात्राएं एक-एक बूंद पानी के लिए मोहताज हैं। करीब एक सप्ताह से हॉस्टल में पेयजल की सप्लाई नहीं हो रही  है। वहीं पेयजल आपूर्ति के लिए जिम्मेदार विभाग के अधिकारी भू-जल स्तर बढ़ने तक इंतजार करने की बात कह छात्राओं को शांत करने की बात कह रहे हैं। जिसके चलते छात्राओं में आक्रोश बढ़ता जा रहा है।  भीषण गर्मी में बीते एक सप्ताह से हॉस्टल में पानी नही आने से छात्राओं के हाल-बेहाल हैं। उन्हें सबसे ज्यादा समस्या नित्य क्रिया में आ रही है। मामले में अभी जिम्मेदार अधिकारी कागजी कार्रवाई को पूरा करने में लगे हुए हैं। देवेंद्र छात्रावास के छात्र नेता अनुज प्रताप सिंह ने कहा कि यह पूरी तरह से इंजीनियरिंग विभाग की लापरवाही का नतीजा है। हर साल यह समस्या सामने आती है, लेकिन स्थाई निदान की ओर ध्यान नहीं दिया गया। अब इस भीषण गर्मी में छात्राएं पढ़ाई में ध्यान लगाएं या फिर पानी की तालाश में शहर में घूमें। अगर अगले दो दिन में पेयजल आपूर्ति बहाल नही हुई तो इंजीनियरिंग विभाग की घेराबंदी की जाएगी।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

मसाला ख़बरें

रूही सिंह ने सोशल मीडीया पर बिखेर अपने हुस्न के जलवे

मुंबई: फिल्म 'कैलेंडर गर्ल्स' से अपने करियर की शुरुआत करने वाली रूही सिंह इन दिनों अपनी हॉट इंस्टाग्राम...

जैकी श्रॉफ की बेटी ने फिर दिखाई बोल्ड अदाएं

मुंबई: बॉलीवुड अभिनेता जैकी श्रॉफ की बेटी कृष्णा श्रॉफ अपनी तस्वीरों की वजह से सोशल मीडिया चर्चा में...

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार