PSLV के सफल प्रक्षेपण पर PM मोदी ने ISRO के वैज्ञानिकों को दी बधाई

On Date : 12 January, 2018, 12:28 PM
0 Comments
Share |

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन (इसरो) की अंतरिक्ष में एक और उपलब्धि पर बधाई दी है. प्रधानमंत्री ने अपने बधाई संदेश में देश के वैज्ञानिकों को बधाई देते हुए इसे नए साल का तोहफा करार देते हुए कहा कि तकनीकी में ये बदलाव देश के नागरिकों, किसानों और मछुआरों की मदद में सहयोगी देगी. प्रधानमंत्री मोदी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा 'पीएसएलवी के सफल प्रक्षेपण पर इसरो और उसके वैज्ञानिकों को हार्दिक बधाई, नए साल में यह कामयाबी हमारे देश के लिए के लिए अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में हमारे नागरिकों, किसानों और मुछआरों के लिए लाभ लाएगी. ' पीएम मोदी ने कहा कि 'इसरो द्वारा 100 उपग्रह का शुभारंभ अपनी शानदार उपलब्धियों और भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रम के उज्ज्वल भविष्य को दर्शाता है'

पीएम मोदी ने कहा कि, ' भारत की सफलता के लाभ हमारे भागीदारों के लिए उपलब्ध हैं! आज लॉन्च किए 31 उपग्रहों में से 28 अन्य 6 देशों से संबंधित हैं' आपको बता दें कि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने शुक्रवार को एक और इतिहास रचते हुए अपने 100वें उपग्रह का अंतरिक्ष में प्रक्षेपण किया. चेन्नई से 110 किलोमीटर दूर स्थित श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष केंद्र से इस 100वें उपग्रह के साथ 30 अन्य उपग्रह भी अंतरिक्ष में प्रक्षेपित किए गए.

अपने इस 42वें मिशन के लिए इसरो ने भरोसेमंद कार्योपयोगी ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान पीएसएलवी-सी40 को भेजा, जो कार्टोसेट-2 श्रृंखला के उपग्रह और 30 सह-यात्रियों (जिनका कुल वजन करीब 613 किलोग्राम है) को लेकर सुबह 9 बजकर 28 मिनट पर उड़ान भरी.

'पीएसएलवी-सी40/ कार्टोसेट2 श्रृंखला के उपग्रह मिशन की 28 घंटे की उलटी गिनती गुरुवार सुबह पांच बजकर 29 मिनट (भारतीय समयानुसार) पर शुरू हो गई थी. हरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के पहले लॉन्च पैड से इस 44.4 मीटर लंबे रॉकेट का प्रक्षेपित किया गया. सह-यात्री उपग्रहों में भारत का एक माइक्रो और एक नैनो उपग्रह शामिल है, जबकि छह अन्य देशों - कनाडा, फिनलैंड, फ्रांस, कोरिया, ब्रिटेन और अमेरिका के तीन माइक्रो और 25 नैनो उपग्रह शामिल किए जा रहे हैं.

इसरो और एंट्रिक्स कॉर्पोरेशन लिमिटेड के बीच हुए व्यापारिक समझौतों के तहत इन 28 अंतरराष्ट्रीय उपग्रहों को प्रक्षेपित किया गया. यह 100वां उपग्रह कार्टोसेट -2 श्रृंखला का तीसरा उपग्रह है.

इसरो की अभी तक की 10 उपलब्धयों की सूची यह रही...
2017 : इसरो ने एक साथ 104 उपग्रहों का प्रक्षेपण किया, जोकि किसी भी स्‍पेस एजेंसी द्वारा किए गए सबसे ज्यादा प्रक्षेपण थे.
2017 : इसरो ने सफलतापूर्वक जीएसलवी एमके-3 का टेस्‍ट किया, ताकि भारत 2020 तक अंतरिक्ष में इंसान को भेज सके.
2016 : इसरो ने खुद का सैटेलाइट नेविगेशन सिस्‍टम आईआरएनएसएस बनाया.
2016 : इसरो ने अमेरिका, कनाडा, जर्मनी और इंडोनेशिया की 20 सैटेलाइट लॉन्‍च की.
2016 : इसरो ने 95 करोड़ रुपये की कीमत वाले स्पेस शटल रिसाबल लॉन्च वाहन का प्रक्षेपण किया
2014 : इसरो मार्स मिशन मंगलयान में सफल रहा, जोकि नासा से दस गुना सस्‍ता था.
2008 : इसरो के पहले लुनर मिशन ने भारत को 6 देशों के इलीट क्‍लब में शामिल किया.
1993 : 1993 से पीएसएलवी ने 19 देशों के 40 उपग्रहों को लॉन्च किया.
1983 : इसरो ने 1983 से संचार और प्रसारण के लिए 9 उपग्रहों को लॉन्च किया, जिसे इन्सैट के नाम से जाना जाता है.
1975 : इसरो ने भारत के पहले सैटेलाइट आर्यभट्ट को लॉन्‍च करते हुए इतिहास रचा

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार