PM के प्रधान सचिव ने की CJI दीपक मिश्रा से मुलाकात

On Date : 13 January, 2018, 12:13 PM
0 Comments
Share |

नई दिल्ली: उच्चतम न्यायालय के चार वरिष्ठ न्यायाधीशों के अप्रत्याशित और अभूतपूर्व संवाददाता सम्मेलन के बाद उठे विवाद के बीच अटॉर्नी जनरल के के वेणुगोपाल ने आज इस विवाद के समाप्त हो जाने की उम्मीद जताई है।  वेणुगोपाल ने कहा कि मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा शीर्ष अदालत के अन्य सभी न्यायाधीशों के साथ आज मिलकर मतभेदों को दूर करेंगे। उन्होंने कहा कि इस अप्रत्याशित घटना के बाद उनकी मुलाकात न्यायमूर्ति मिश्रा से हुई थी और विवाद के आज समाप्त हो जाने की पूरी उम्मीद है। उन्होंने हालांकि अपने साथ हुए विचार विमर्श की विस्तृत जानकारी देने से इंकार कर दिया।  अटॉर्नी जनरल ने चारों न्यायाधीशों द्वारा किए गए संवाददाता सम्मेलन पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि आज जो कुछ भी हुआ उसे टाला जा सकता था।  सूत्र बताते हैं कि इस मामले को खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संज्ञान में लिया है। शनिवार की सुबह प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्रा ने सीजेआई दीपक मिश्रा से उनके निवास पर मुलाकात की। मीडिया में नृपेंद्र मिश्रा को सीजेआई के घर से निकलते हुए फोटो जारी हुए हैं।

आजाद भारत के इतिहास में पहली बार सुप्रीम कोर्ट के चार मौजूदा जजों ने अपना कामकाज छोड़कर आनन-फानन में प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई और देश के मुख्य जज (सीजेआई) की कार्यशैली पर सवाल खड़े किए। प्रेस कॉन्फ्रेंस में चारों जजों ने सुप्रीम कोर्ट की कार्यप्रणाली में प्रशासनिक व्यवस्थाओं का पालन नहीं किए जाने और सुनवाई के लिए महत्वपूर्ण मुकदमों के आवंटन में मनमाना रवैया अपनाने का आरोप लगाया।

सुप्रीम कोर्ट के जज जस्ती चेलमेश्वर ने न्यायमूर्ति रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति मदन बी लोकुर और न्यायमूर्ति कुरियन जोसेफ के साथ आज कोर्ट की प्रशासकीय खामियों से देश को अवगत कराया। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट प्रशासन ठीक ढंग से काम नहीं कर रहा है। जब कोई विकल्प नहीं बचा तो हम सामने आए हैं। हमने इस मामले में चीफ जस्टिस से बात की। सीनियर जजों ने कहा कि लोकतंत्र खतरे में हैं।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार