काली पट्टी बांधकर सभी धर्मों के लोग पहुंचे थाने, जताया आक्रोश

On Date : 07 September, 2017, 9:44 PM
0 Comments
Share |

जैन मंदिर में पशु अवशेष मामला, आरोपी का सुराग नहीं, पुलिस ने 3 दिन और मांगे
प्रदेश टुडे संवाददाता, गैरतगंज
तीन दिन पहले गैरतगंज तहसील मुख्यालय स्थित जैन मंदिर के गेट पर मृत पशु अवशेष मिलने की घटना में पुलिस प्रशासन के अधिकारियों द्वारा आरोपियों को पकड़ने के लिए 3 दिनों की समयावधि गुरुवार को पूरी हो गई। लेकिन पुलिस किसी अहम सुराग तक नही पहुंच पाई है। गुरुवार को सभी धर्मों के लोग विरोध स्वरूप काली पटटी बांधकर थाने पहुंचे एवं पुलिस के सुस्त रवैए पर आक्रोश जताकर पुलिस की अभी तक की कार्रवाई का विवरण मांगा। बाद में पुलिस अधिकारियों की मांग पर लोगों ने आरोपियों को पकड़ने के लिए 3 दिनों की समयावधि और मांगी है। 
 
गौरतलब है कि 5 सितम्बर को गैरतगंज नगर में बाजार चैक स्थित बड़ा जैन मंदिर में अज्ञात असामाजिक तत्वों ने मंदिर के द्वार पर मृत पशु का अवशेष टांग दिया था। इससे नगर में तनाव के हालात बन गए थे। बाद में सभी धर्मों के लोगों की सूझबूझ के कारण तनाव टल गया था। परन्तु नगर में इस घटना के विरोध में जैन समाज सहित अन्य धर्मो के लोगो में आक्रोश बरकरार है। घटना में पुलिस के किसी नतीजे तक नही पहुंच पाने के बाद नगर के सभी धर्मो के गणमान्य नागरिकों ने मीटिंग कर आक्रोश प्रकट किया। बाद में सभी समुदायों के लोग बडी संख्या में थाने पहुंचे। 
 
थाने में मौजूद एसडीओपी मंगल सिंह ठाकरे से लोगों ने घटना के पदार्फाश के लिए पुलिस द्वारा मांगी गई 3 दिन की समयावधि पूरी होने पर अब तक हुई कार्रवाई का विवरण मांगा। पुलिस द्वारा अब तक आरोपियों की गिरफ्तारी न किए जाने पर लोगो ने चर्चा के दौरान गैरतगंज थाना पुलिस की सुस्त कार्रवाई पर आक्रोष जताया। चर्चा करते हुए जैन समाज के अध्यक्ष टेकचंद जैन, मंडल अध्यक्ष मूरत सिंह ठाकुर, सुभाष चंद जैन, हिउस अध्यक्ष अषोक सिंह ठाकुर मामा, नवीन जैन, महेन्द्र तिवारी, मिंटू सिंघई, नीरज जैन, संतोष राय, षिखरचंद जैन, हरिकृष्ण गौर, परषोत्तम पटेल, मुकेष ठाकुर, राकेष जैन, अषोक ठाकुर, श्याम राय ने गैरतगंज थाना पुलिस की सुरक्षा में चूक एवं बाद में घटना घटित होने के बाद 3 दिन तक कोई कार्रवाई न होने पर खुलकर गुस्सा प्रकट किया। 
 
जांच में करें सहयोग
एसडीओपी मंगल सिंह ठाकरे ने कहा कि त्यौहारों के समापन में पुलिस को ज्यादा समय नही मिल पाया है। अब नागरिक पुलिस को 3 दिन का समय और दें तथा जांच में सहयोग करें। इस समयावधि में पुलिस आरोपियों को पकड़ने का भरसक प्रयास करेगी। जिस पर लोग सहमत हो गए। लोगों ने आरोपियों की गिरफ्तारी होने तक काली पटटी बांधकर विरोध प्रदर्शन जारी रखने एवं समापन चल समारोह न निकालने की बात कही। 

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार