गरीब की मौत, बिल के लिए बंधक बनाई लाश

On Date : 14 November, 2017, 6:00 PM
0 Comments
Share |

हॉस्पिटल में हंगामा,रात से इंतजार कर रहे मृतक के परिजन
जबलपुर।
करेली से इलाज के लिए निजी अस्पताल लाए गए गरीब मरीज की कल रात उपचार के दौरान मौत हो गई। मौत के बाद अस्पताल प्रबंधन ने बिल के 1 लाख रुपए की मांग करते हुए शव बंधक बना लिया। मिन्नतें करने के बाद भी अस्पताल प्रबंधन ने शव परिजनों के सुपुर्द नहीं किया। इस बात को लेकर आज सुबह अस्पताल में हंगामा मच गया।
रेवा नगर करेली निवासी ललित विश्वकर्मा एवं साथियों ने बताया कि 42 वर्षीय नर्मदा प्रसाद विश्वकर्मा को कुछ दिन पहले बैल ने मार दिया था। जिससे उनकी कमर व गर्दन में चोट लगी थी। करीब 10 दिन पहले नर्मदा प्रसाद को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। नर्मदा प्रसाद के परिजनों ने गरीबी का हवाला देते हुए अस्पताल प्रबंधन को अपना मजदूरी कार्ड दिखाया था। जिस पर अस्पताल प्रबंधन ने कहा कि इलाज के  खर्च का बिल मजदूरी कार्ड के आधार पर स्वीकृत करा लिया जाएगा। इसके बाद नर्मदा का उपचार किया गया।
अचानक बोले आॅपरेशन करना है
मृतक के परिजनों ने बताया कि भर्ती करने के कुछ दिन बाद डॉक्टरों ने अचानक कहा कि मरीज का आॅपरेशन करना पड़ेगा, 60-70 हजार रुपए जमा कराओ। परिजनों ने जैसे-तैसे रुपए जमा करा दिए। इसी बीच उन्हें एक फाइल देकर नरसिंहपुर सीएमओ से साइन कराने के लिए कहा गया। जिससे इलाज की राशि प्राप्त हो सके। परिजनों ने सीएमओ से हस्ताक्षर करा लिए, लेकिन इसी बीच कल रात नर्मदा प्रसाद की मौत हो गई।
अस्पताल में मचा है हंगामा
बिल जमा कराने के नाम पर मरीज शव बंधक बनाकर रखने के कारण अस्पताल में हंगामा मचा हुआ है। दोपहर तक अस्पताल प्रबंधन द्वारा शव परिजनों के सुपुर्द नहीं किया गया।

रुपयों के लिए अड़ा अस्पताल प्रबंधन, परिजन बोले कहां से लाएं रुपए
नर्मदा की मौत के बाद हॉस्पिटल प्रबंधन ने 1 लाख रुपए से अधिक का बिल थमाया तो मृतक के परिजनों ने कहा कि मरीज को भर्ती कराने के पहले ही उन्होंने अपनी गरीबी की बात बता दी थी, जिस पर अस्पताल वालों ने ही मजदूरी कार्ड से पैसे ले लेने की बात कही थी। जिसकी प्रक्रिया भी चल रही है। प्रक्रिया पूरी होते ही 10-12 दिन में पैसे अस्पताल के नाम से चैक द्वारा मिल जाएंगे, लेकिन अब अस्पताल प्रबंधन अपनी बात से मुकर रहा है। 

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार