जनपद अध्यक्ष, उपाध्यक्ष सहित सदस्यों ने दिया इस्तीफा

On Date : 20 December, 2017, 10:50 PM
0 Comments
Share |

अधिकारियों की उपेक्षा एवं प्रस्तावों पर अमल नहीं होने से रोष
मुलताई। जनपद में अधिकारियों के तानाशाह रवैये तथा दो वर्षों में एक भी प्रस्ताव पर अमल नहीं होने से आहत जनपद अध्यक्ष, उपाध्यक्ष सहित समस्त जनपद सदस्यों द्वारा बुधवार तहसीलदार को इस्तीफा सौंपा गया है। बुधवार जनपद के सभी पदाधिकारी जनपद कार्यालय में एकत्रित हुए तथा नारेबाजी करते हुए तहसील कार्यालय पहुंचे जहां तहसीलदार को इस्तीफा सौंपा गया। अध्यक्ष पार्वतीबाई बारस्कर, उपाध्यक्ष सदाशिव गढ़ेकर सहित जनपद सदस्यों ने बताया कि निर्वाचित होने के बाद से विगत दो वर्षों से अभी तक किसी भी पदाधिकारियों द्वारा लिए गए एक भी प्रस्ताव पर अमल नहीं किया गया जिससे पदाधिकारियों में रोष व्याप्त है। अध्यक्ष उपाध्यक्ष सहित सदस्यों को अधिकारियों द्वारा ना तो कोई योजना की जानकारी ही दी जाती है और ना ही उनकी सुनी जाती है। सदस्यों ने बताया कि अधिकारियों के तानाशाह रवैये के चलते पदाधिकारियों को उपेक्षा का शिकार होना पड़ा है इसलिए सामूहिक इस्तीफा दिया जा रहा है।
जनपद उपाध्यक्ष सदाशिव गढ़ेकर ने बताया कि निर्वाचित होने के बावजूद जनपद में जनप्रतिनिधियों की कोई अहमियत ही नही है। अधिकारियों द्वारा उनकी एक भी नही सुनी जा रही है। बैठक भी औपचारिक रूप से होती है जिसमें लिए गए प्रस्तावों को नजरअंदाज कर दिया जाता है। ऐसी स्थिति में जनपद पदाधिकारी अपने-अपने क्षेत्र की समस्याओं का समाधान भी नही करा पा रहे हैं जिससे ग्रामीणों के बीच उनकी किरकिरी हो रही है।

भाजपा की परिषद में भाजपा के पदाधिकारियों की ही उपेक्षा
भाजपा के शासन में अभी तक असंतुष्ट भाजपा के पदाधिकारी शिकवा, शिकायत तथा ज्ञापन तो दे ही रहे थे लेकिन सामूहिक रूप से इस्तीफा देने की घटना गंभीर है। जनप्रतिनिधियों ने बताया कि पंच से लेकर प्रधानमंत्री तक भाजपा के ही पदाधिकारी बैठे हुए हैं इसलिए वे जनता को काम नही होने का कोई बहाना भी नही कर सकते। जनता ने उन्हे बहुत उम्मीद से परिषद में भेजा है तथा पूरी भाजपा की सरकार होने के बावजूद जब काम नही होता है तो इसका कोपभाजन जनप्रतिनिधियों को ही बनना पड़ता है जो शर्मनाक हैं।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार