संकल्प से सिद्धी अभियान:संकल्प से असंभव भी संभव होता है

On Date : 07 September, 2017, 9:42 PM
0 Comments
Share |

प्रदेश टुडे संवाददाता रायसेन/बाड़ी
संकल्प वह शक्ति है, जिसके बल पर असंभव को भी संभव किया जा सकता है। देशवासियों ने देश को आजाद कराने का संकल्प लिया और सभी उस संकल्प को पूरा करने में एक साथ जुट गए तो अंग्रेजों को भारत छोड़कर जाना पड़ा। प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी ने देश को दुनिया का सिरमौर बनाने का जो सपना देखा है, उसे पूरा करने के लिए हम सभी को संकल्प लेकर सक्रिय योगदान देना होगा। यह बात उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) एवं जिले के प्रभारी मंत्री सूर्यप्रकाश मीणा ने संकल्प से सिद्धी अभियान के अंतर्गत रायसेन में आयोजित एक दिवसीय जिला स्तरीय सम्मेलन के शुभारंभ अवसर पर कही। प्रभारी मंत्री श्री मीणा ने कहा कि सिद्धी को प्राप्त करने के लिए केवल संकल्प लेना ही पर्याप्त नहीं है, बल्कि कठोर परिश्रम करना पड़ता है। उन्होंने कहा कि देश के समक्ष विद्मान चुनौतियों गरीबी, गंदगी, भ्रष्टाचार, जातिवाद, साम्प्रदायिकता तथा आंतकवाद से मुक्ति के लिए प्रत्येक नागरिक को अपने कर्तव्य का निर्वहन करना होगा। तभी हम देश को दुनिया के विकसित देशों की श्रेणी में ला सकते हैं।
उन्होंने कहा कि देश के विकास एवं आम लोगों के कल्याण के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कई नई योजनाएं बनाई। प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मध्यप्रदेश को अग्रणी राज्य बनाने के लिए लगातार काम कर रहे हैं। विगत कुछ वर्षो में विकास को गति मिली है। इसमें नागरिकों की अहम भूमिका रही है। उन्होंने कहा कि हम सभी को मिलकर प्रधानमंत्री के सपने को साकार करने के लिए एकजुट होकर काम करना होगा। प्रभारी मंत्री श्री मीणा ने कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को देश को गरीबी, गंदगी, भ्रष्टाचार, जातिवाद, साम्प्रदायिकता तथा आंतकवाद से मुक्त बनाने का संकल्प दिलाया और परिसर में विभिन्न विभागों द्वारा लगाए गए स्टॉल का अवलोकन भी किया।
 
अपने और देश के विकास के लिए जागरूक होना जरूरी: कलेक्टर
कलेक्टर भावना वालिम्बे ने कहा कि किसी भी काम को पूरा करने के संकल्प को लेने के लिए गंभीर चिंतन मनन जरूरी है। जब हम पूरी तरह से किसी संकल्प को पूरा करने के लिए समर्पित होकर काम करते हैं तो निश्चित ही सफलता मिलती है। उन्होंने कहा कि सरकार लोगों के कल्याण और विकास के लिए अनेक योजनाएं बनाकर उनका क्रियान्वयन कर रही है। इन योजनाओं की सफलता के लिए यह भी जरूरी है कि सरकारी अमला पूरी ईमानदारी के साथ काम करे और उसमें नागरिकों की भी सक्रिय भागीदारी हो। योजनाएं जिन वर्गो, जिन लोगों के लिए बनी हैं, वे भी उनका लाभ लेने के लिए आगे आएं। 

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार