सूरमा की फैंक 12 अगस्त 2017

On Date : 12 August, 2017, 1:28 PM
0 Comments
Share |

सुरक्षा उनकी जो हमें रखें जागरुक। भोत जानदार टैगलाइन है। अपन बात कर रए हेंगे जनसंपर्क की पत्रकार स्वास्थ्य एवं दुर्घटना समूह बीमा योजना की। यूं तो इसमें सारे पिरावधान भोत उम्दा रखे गए हेंगे। मसलन पत्रकार, उसकी बीवी और तीन बच्चों तलक को तयशुदा प्रीमियम देने पे इस बीमा कवर का फायदा मिलेगा। बाकी जब से ये बीमा योजना लागू हुई हेगी तबी से पत्रकार मांग करते रहे हैं कि इसका फायदा पत्रकारों के उन माता-पिता को भी दिया जाए जो पूरी तरा से उनपे डिपेंट हैं। साथ ही इस योजना में सत्तर पार वाले पत्रकारों के बच्चों को शामिल नहीं किया जाता। अब साब कई ऐसे जईफ पत्रकार हैं जिनकी संतान बेरोजगार है या किसी बीमारी से पीड़ित है, तो उसे भी कवर मिल जाता तो भोत उम्दा होता। भोपाल जर्नलिस्ट एसोसिएशन के सतीश सक्सेना के मुताबिक बीमा कवर में माता-पिता को शामिल करने के अभी तक सिरफ वादे ही हुए हैं। उम्मीद है ये वादे जल्द वफा होंगे। बाकी साब सूरमा तो येई चाहता है कि आप हमेशा इत्ते टनाटन रहो के कभी अस्पताल में जमा होने की जरूरत ही न पड़े...आमीन।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार