सूरमा की फैंक 13 अक्टूबर 2017

On Date : 13 October, 2017, 12:12 PM
0 Comments
Share |

खबरों की झांकी तानने में, खबरों के कंटेंट वगैरह में दैनिक भास्कर आमतौर पे सबसे आगे ही रहता है। टेक्नॉलॉजी के इस्तेमाल पे भी वहां अक्सर पहल की जाती है। लेटेस्ट में जो खबर मिली हेगी वो वहां स्मार्ट वर्किंग के नए आयाम से बावस्ता है। भास्कर ने गूगल के साथ टाइअप करके सभी एडिशन के लिए एक एप बनवाया है। एन्ड्रॉयड से पावर्ड ये एप अखबार के मेट्रिक्स सिस्टम से जोड़ दिया गया है। गोया के वहां एडिटोरियल स्टाफ जिस मेट्रिक्स सिस्टम पे काम करता है वही सिस्टम अब उनके स्मार्ट मोबाइलों पे मुहैया हो गया है। अब रिपोर्टर कहीं से भी मोबाइल के इस सिस्टम से अपनी खबरें टाइप कर सकेगा, फोटू और विज्यूल भेज सकेगा। इसके लिए जिनके पास फाइव प्वाइंट वाले स्मार्ट मोबाइल नहीं है उने कंपनी नए मोबाइल भी दे रही है। मैनेजमेंट का मानना है कि इससे काम में तेजी आएगी। इससे अखबार के साथ ही भास्कर डॉट कॉम भी सबसे तेज अपडेट होगा। मोबाइल से भेजी जाने वाली खबर डेस्क पर बैठे एडिटर को भी दिखेगी और वो इसमें फेरबदल भी कर सकेगा। कुल मिलाके फंडा ये के भास्कर की निगाह मुस्तकबिल में मीडिया में होने वाले बदलावों पे टिक गई है जिसमें वही टिकेगा जो टेक्नॉलाजी के इस्तेमाल में आगे होगा।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार