महिलाओं के सम्मान के लिए खुले में शौच की प्रथा को बंद करें: कलेक्टर

On Date : 07 October, 2017, 10:14 PM
0 Comments
Share |

ग्रामवासियों ने ग्राम पंचायत को खुले में शौच से मुक्त करने की शपथ ली
टीकमगढ़। जनपद पंचायत टीकमगढ की ग्राम पंचायत महाराजपुरा में बीती रात्रि चौपाल का आयोजन किया गया। चौपाल में कलेक्टर अभिजीत अग्रवाल द्वारा उपस्थित जनसमुदाय को खुले में शौच की कुप्रथा का त्याग करने हेतु ट्रिगर किया गया। उन्होंने लोगों को समझाया कि खुले में शौच करना एक कुप्रथा है, इसे तत्काल बंद किया जाना चाहिए। उन्होंने शौचालय के उपयोग का महत्व बताते हुए कहा कि शौचालय निर्माण से न केवल महिलाओं को खुले में शौच से होने वाली शर्मिंदगी से निजात मिलेगी बल्कि उनके सम्मान की रक्षा भी हो सकेगी। साथ ही सभी को बेहतर स्वास्थ्य मिलेगा और संपन्नता की राह खुल सकेगी, इसके लिए सभी ग्रामवासी अपने घरों में शौचालय का निर्माण कर उपयोग करें। कलेक्टर अग्रवाल ने लोगों का आह्वान किया कि वे खुले में शौच से मुक्ति के लिए आगे आकर संकल्प लें, यह संकल्प बड़े-बड़े गावों के लिए उदाहरण प्रस्तुत करेगा।
 
‘खुले में शौच से  बीमारियां फैलेंगी’
श्री अग्रवाल ने लोगों को समझाते हुए कहा कि जब तक गांव का एक भी व्यक्ति खुले में शौच हेतु जाता रहेगा, अन्य ग्रामवासी परोक्ष रूप से अपने भोजन के माध्यम से गंदगी को ग्रहण करते रहेंगे क्योंकि मक्खियां खुले में किए गए मल पर बैठ कर अपने पैरों में गंदगी ले कर अन्य सभी ग्रामवासियों के भोजन पर बैठ कर उसे दूषित करती रहेंगी और बीमारियों को फैलाती रहेंगी। 

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार