दागी नहीं लड़ सकेंगे छात्र संघ चुनाव

On Date : 13 October, 2017, 2:36 PM
0 Comments
Share |

15 पाइंट का शपथ पत्र भरकर देना होगा
प्रदेश टुडे संवाददाता, ग्वालिय

यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में छात्र संघ चुनाव के दौरान कक्षा प्रतिनिधि और पदाधिकारी के पदों पर वे ही छात्र-छात्राएं  नामांकन दाखिल कर पाएंगे,जिनके दामन पर किसी भी तरह का दाग नहीं होगा। अगर किसी छात्र के खिलाफ किसी भी प्ररकण में कानूनी कार्रवाई हुई होगी,नकल प्रकरण बना होगा,रैगिंग में लिप्त हुए होंगे या छात्रावास से निष्कासित हुए होंगे तो ऐसे छात्र चुनाव में खड़े नहीं हो पाएंगे।
उच्च शिक्षा विभाग ने यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में अप्रत्यक्ष प्रणाली से छात्र संघ चुनाव कराने की गाइडलाइन जारी कर दी है। जिसने अनुसार तैयारी करने के प्राचार्यों को निर्देश दिए गए हैं। खास बात यह है कि निर्विवाद रहने वाले चेहरे ही छात्र संघ चुनाव में प्रत्याशी बन सकते हैं। इसको लेकर मैदान में उतरने वाले प्रत्याशी को अभिवचन पत्र  भरकर देना होगा। उसमें 15 बिंदुओं की जानकारी भरना होगी। यह अर्हताएं पूरी करने वाले छात्र ही नामांकन भर पाएंगे। अगर किसी भी बिंदु की प्रत्याशियों ने झूठी जानकारी अभिवचन पत्र में भरकर दी गई और जिसके बाद वे छात्र संघ के पदाधिकारी बन गए। उनकी झूठी जानकारी का जैसे ही बाद में पता चता तो ऐसे छात्रों को तत्काल प्रभाव से संबंधित पद से हटा दिया जाएगा। जिसके लिए वे स्वयं ही जिम्मेदार होंगे। छात्र को अभिवचन पत्र में भरना होगा कि न्यायालय द्वारा कभी भी दंडित नहीं किया गया तथा न ही न्यायालय में आरोप तय कर कोई प्रकरण विचाराधीन है। भारतीय दंड संहिता का उन्होंने कभी उल्लंघन नहीं किया। एक कोर्स में फेल होकर या बीच में अधूरा छोड़कर दूसरे किसी कोर्स में प्रवेश नहीं लिया।
परीक्षा के दौरान अनुचित साधनों का प्रयोग करते नहीं पकड़ा गया। न ही इसके लिए दंडित किया गया। कॉलेज व यूनिवर्सिटी द्वारा मेरे विरुद्ध कभी भी कोई अनुशासनात्मक कार्रवाई नहीं की गई और ना लंबित है। कभी भी रैगिंग में लिप्त नहीं रहा। किसी भी प्रकार के नियमित रोजगार में नहीं हूं।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार