धार्मिक उन्माद को लेकर सिख समुदाय में आक्रोश

On Date : 11 January, 2018, 3:17 PM
0 Comments
Share |

ठेकेदार  पर धार्मिक भावनाएं भड़काने का मामला  दर्ज

प्रदेश टुडे संवाददाता

बीती रात सोशल मीडिया के माध्यम से फेसबुक पर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाली ठेस ने सिख समुदाय को आहत कर डाला और सिख समुदाय में आक्रोश व्याप्त रहा। इसके बाद सिख समुदाय ने एकत्रित होकर पुलिस अधीक्षक कार्यालय का घेराव किया और मामले में दोषी के विरूद्ध कार्रवाई की मांग की गई। इस मामले में ठेकेदार अर्पित शर्मा का मामला सामने आया है जिसमें उन्होंने एक पोस्ट फेसबुक पर ऐसी डाली जिसमें सिख समुदाय के अग्रज के फोटों के साथ छेड़छाड़ की गई जिससे धार्मिक भावनाऐं भड़की और इसके परिणाम स्वरूप सिख समुदाय ने एसपी आॅफिस का घेराव किया और अर्पित शर्मा के विरूद्ध आईटी एक्ट के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया।
    घटनाक्रम अनुसार ठेकेदार अर्पित शर्मा ने  अपनी फेसबुक आईडी पर एक पोस्ट डाली  थी जिसमें लिखा गया था कि चिडिया नाल बाज लड़ावां सवा लाख से अकेला लड़ जावां, तब अर्पित शर्मा नाम पड़ावां, अर्पित शर्मा बस नाम सिक्ख समुदाय को नागवार गुजरा और सिख समुदाय में गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी के पदाधिकारी सुरेन्द्र सिंह गिल की अगुवाई में पुलिस अधीक्षक कार्यालय का घेराव किया। जहां एसपी को ज्ञापन सांैपा और उसमें उल्लेख किया कि जो पोस्ट अर्पित शर्मा द्वारा डाली गई है वह उनकी धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाली है। अर्पित शर्मा ने सिख समुदाय के अग्रज गोविन्द सिंह साहब के ग्रंथ में जो लेख है वह चिडिया नाल में बाज लड़ावां गिदड़ां तो मैं शेर बनावां, सवा लाख से एक लड़ावां तबे गोविन्द सिंह नाम धरावां। आवेदन में उल्लेख किय गया था कि अर्पित शर्मा ने ग्रंथ में जो लेख है उसमें से श्री गुरू गोविन्द सिंह साहब का नाम हटाकर खुद का नाम डाल दिया गया है। ज्ञापन के माध्यम से सिक्ख समुदाय ने पुलिस अधीक्षक के समक्ष रोष व्यक्त करते हुए  अर्पित शर्मा के खिलाफ तत्काल एफआईआर दर्ज उसे गिरफ्तार किए जाने की मांग की जिस पर पुलिस अधीक्षक ने शर्मा के खिलाफ सिक्ख समुदाय के आवेदन पर से मामला दर्ज किए जाने के निर्देश कोतवाली पुलिस को दिए। एफआईआर के निर्देश मिलने के बाद भी सिक्ख समुदाय एसपी आॅफिस के बाहर से नहीं उठा और उन्होंने कार्यालय परिसर में ही गुरूवाणी गाना शुरू कर दिय। उनकी मांग थी कि जब तक हमारे हाथ में एफआईआर नहीं आ जाती तब तक हम नहीं हटेंगें। इसके बाद पुलिस ने अर्पित शर्मा के विरूद्ध आईटी एक्ट के तहत मामला पंजीबद्ध किया तब कहीं जाकर सिक्ख समुदाय इस कार्रवाई से संतुष्ट हो सके।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार