अतिरिक्त आय का स्त्रोत है पशुपालन: डॉ. जुयाल

On Date : 06 December, 2017, 6:46 PM
0 Comments
Share |

वेटरनरी यूनिवर्सिटी में मनाया गया कृषि शिक्षा दिवस
प्रदेश टुडे संवाददाता, जबलपुर
नाना जी देशमुख वेटरनरी साइंस यूनिवर्सिटी में कृषि शिक्षा दिवस मनाया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे वेटरनरी यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ. पीडी जुयाल ने कहा कि किसानों के लिए पशुपालन एक अतिरिक्त आय का स्त्रोत है, लेकिन ज्यादातर किसान पशुपालन नहीं करते हैं, जिसके कारण वे सिर्फ आय के लिए कृषि पर ही निर्भर होते हैं। कई बार विषम परिस्थितियों में किसानों को जीवन गुजर बसर करना मुश्किल हो जाता है। यदि किसान कृषि के साथ पशुपालन करेगा, तो वह कभी भी आर्थिक रूप से कमजोर नहीं होगा।
कार्यक्रम में जवाहर लाल नेहरू कृषि विवि के कुलपति डॉ. पीके बिसेन ने मंच से कहा कि वर्ष 2020 तक कृषकों की आय दो गुना करने हेतु कृषि के साथ साथ पशुपालन को बढ़ावा अवश्य देना होगा।  
कार्यक्रम में मंच में डॉ. इन्द्रजीत बाकलवार, एएसपी एवं डॉ. अरविंद सिंह ठाकुर के विशिष्ट आतिथ्य में संपन्न हुआ।  इस अवसर पर डॉ. रमेश प्रताप सिंह बघेल, डीन वेटरनरी कॉलेज ने कृषि शिक्षा दिवस कार्यक्र म की रूपरेखा प्रस्तुत की। इस अवसर पर विवि का न्यूज लेटर एवं एक  पत्रिका देषी नस्ल की गायों का संक्षिप्त परिचय का विमोचन अतिथियों के साथ मंचासीन डॉ. आदित्य मिश्रा द्वारा किया गया।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार