हरदा मंडी में हजारों किसानों ने दिया धरना, जमकर की नारेबाजी

On Date : 15 September, 2017, 9:56 PM
0 Comments
Share |

किसान अदालत भी लगाई, फसल बीमे का लाभ दिलाने की मांग
प्रदेश टुडे संवाददाता, हरदा
आम किसान यूनियन का विशाल धरना प्रदर्शन ‘महापड़ाव’ शुक्रवार को मंडी प्रांगण में सम्पन हुआ। जिसमें सैकड़ों की संख्या में किसानों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई शासन की किसानों के प्रति बेरुखी को लेकर किसानों की गुस्सा देखते ही बन रहा था। हर बार की तरह इस बार भी आम किसान यूनियन ने किसानों की समस्याओं को नए ढंग से उठाया किसानों के समक्ष ही किसान अदालत लगाई गई।  सभा में यूनियन के केदार सिरोही   ने किसानों की विभिन्न समस्या रखी जिनको लेकर किसान परेशान हैं जिसमें उड़द फसल को जिले मे बीमित फसल कर उसकी नुकसानी का सर्वे कर बीमे का लाभ दिया जावे। 
नहीं वितरित होगा अमानक खाद : बैंक प्रबंधक
 बैंक प्रबंधक ने तुंरत हम वह खाद अब वितरित नही करेंगे और जिन जिन सहकारी समिति में यह खाद पहुंचा है वापसी करवाएंगे, नगद विक्रय को लेकर भी किसानों ने अपनी मांग रखी जिसमे बैंक प्रबंधक ने कहा कि प्रत्येक किसान को 20000 की नगद राशि प्रदान की जायेगी । कृषि उपसंचालक से उड़द ओर उसके सर्वे को लेकर उपसंचालक से सर्वे की मांग दोहराई उपसंचालक ने कहा कि कल से सर्वे प्रारम्भ कर देंगे और जिले मे बोई फसल की स्थिति से बैंक और बीमा कम्पनी को अवगत करा दिया गया है जिससे  उड़द की फसल को जिला  स्तर पर कर दिया गया है। 
बीज अनुदान में सहकारिता से हो रही है देरी:चंद्रावत: बीज अनुदान की मांग भी सदस्यों ने रखी जिसमे कृषि विभाग के श्री चन्द्रावत  ने कहा कि देरी सहकारिता से हो रही है, इस पर यूनियन के सदस्यों ने दवाब बनाकर कहा कि हम कुछ नही जानते एक सप्ताह के अंदर बीज अनुदान किसानों के खातों में पहुंचना चाहिए जिसमें कृषि विभाग ने अपनी सहमति प्रदान की। 
 
कलेक्ट्रेट पहुंच दिया ज्ञापन, बताई मांगें
यूनियन के सुनील गोल्या ने भावन्तर योजना की विसंगतियों के बारे मे जानकारी देकर उसके समाधान की जानकारी दी यूनियन के राम इनानिया ने किसानों की आय दुगनी होने पर सरकार की झूठी पोल खोली इसके बाद रैली के रूप मे नारे लगाते हुए किसान कलक्ट्रेट पहुचे जहा कलेक्टर की अनुपस्थिति मै ज्ञापन लेने डिप्टी कलेक्टर यादव पहुचे किसानों के कहने पर श्री यादव भी किसानों के बोच कलेक्टर प्रांगण में नीचे ही बैठ गये जहा पर यूनियन के सदस्यों ने सारी मांगे बतायी ओर कहा कि कृषि और सहकारिता विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को बुलाया जाए ।
श्री यादव ने फोन कर दोनों विभाग के अधिकारियों को फोन कर बुलाया सहकारिता उपायुक्त  से सदस्यों ने कहा कि किसानों को पुराना खाद दिया जा रहा है जो अमानक है। 

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार