पानी पर पंगा जल संकट: इधर दबंगई उधर दुम दबा ली

On Date : 21 April, 2017, 1:39 PM
0 Comments
Share |

विपक्ष: साफ पानी मांगा तो बनाया टारगेट, सत्तापक्ष: इंजीनियर से गाली-गलौज पर चुप्पी

प्रदेश टुडे संवाददाता, ग्वालियर।
भीषण गर्मी और गहराता जल संकट, ऐसे में अब पूरा शहर तमतमाने लगा है। एक तरफ पानी नहीं मिलने से आम जनता से लेकर जनप्रतिनिधि तक बौखला रहे हैं तो दूसरी ओर साफ पानी के लिए शुरु हुआ आंदोलन अब नेताओं को निजी स्तर पर निशाना बनाने के स्तर पर पहुंच चुका है। इन हालातों में पानी के मुद्दे ने शहर का ‘बीपी’ बढ़ा दिया है।

शहर के कई इलाकों में गंदे पानी की समस्या ने लोगों को पहले से ही हलाकान कर रखा है। गंदे और बदबूदार पानी के कारण फैल रही बीमारियों और संक्रमण के चलते आम जनता की पीड़ा को लेकर पूर्व विधायक प्रद्युम्न सिंह तोमर ने आंदोलन शुरु किया। इस बीच नगरनिगम आयुक्त अनय द्विवेदी और उनके बीच तनातनी से मामला गरमा गया और शासकीय कार्य में बाधा का मामला दर्ज कराते हुए उन्हें जेल भेज दिया गया। इसी कड़ी में अब नगरनिगम द्वारा उनके व्यवसायिक प्रतिष्ठानों और निजी संपत्तियों को निशाने पर लिया जा रहा है। इस मामले में निगम का कहना है कि सरकारी जमीन पर किए गए अतिक्रमण और  बिना अनुमति के हुए निर्माण पर कार्रवाई रोकने की गरज से दबाव बनाने के लिए आंदोलन के नाम पर कोरा राजनीतिक बखेड़ा खड़ा किया जा रहा है।

आवाज उठाओ तो धमकी आंदोलन करो तो जेल
मौजूदा हालातों में सवाल ये उठता है कि यह सब गंदे पानी की समस्या को लेकर आंदोलन करने पर भी क्यों किया जा रहा है। सबसे बड़ा सवाल- क्या यह सब अब एकाएक हो गया है?  ऐसे में कहीं न कहीं निगम प्रशासन की मंशा पर सवाल उठना तो लाजमी है।

और इधर बेइज्जती पर भी खामोशी
दूसरी ओर वार्ड 19 के भाजपा पार्षद बलवीर सिंह तोमर द्वारा पीएचई के उपयंत्री राजेश श्रीवास्तव के साथ गाली-गालौच किए जाने का आॅडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद इस मामले में निगम प्रशासन की चुप्पी पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार