13 माह से चल रहे कार्य गड्ढे खोदने तक सीमित

On Date : 12 January, 2018, 3:11 PM
0 Comments
Share |

अजगर चाल में चल रहा 3 सब स्टेशनो का निर्माण, 13 महीने में कुंद पड़ी गति

प्रदेश टुडे संवाददाता
चुनावी साल होने की वजह से जहां एक ओर लोग लंबित महत्वाकांक्षी घोषणाओं  को विलंब से ही सही इसी सत्र में पूरा होने की उम्मीद कर रहे है। जनप्रतिनिधि भी अपने निधि से स्वीकृत कार्यों को जल्द पूर्ण कराने तत्परता दिखा रहे हैं, लेकिन शासन स्तर की कई अहम योजनाओं की आज भी अजगर चाल बनी हुई है। ताजा मामला आईपीडीएस योजना के तहत विद्युत मंडल के 3 सब स्टेशन निर्माण का है। 13 महीने से चल रहे कार्य महज गड्ढा खोदने तक ही सिमट कर रह गये हैं। दरअसल उपभोक्ताओं को निर्बाध बिजली आपूर्ति के लिये जिले के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में 58 करोड़ की लागत से 3 सब स्टेशनों का निर्माण कराया जा रहा है। दिसंबर 2016 से शुरू हुआ निर्माण कार्य तब तक 13 महीने का वक्त  गुजर जाने के बावजूद आधा अधूरा तो दूर गति भी नहीं पकड़ सका है। कार्य में विलंब के पीछे असल वजह भूमि अधिग्रहण बताया जा रहा है। हैरानी की बात तो यह है कि जनहितैषी कार्यों के लिये मौजूदा वक्त में तत्पर जिला प्रशासन के रहते विद्युत मंडल द्वारा भूमि अधिग्रहण का रोड़ा बताकर कार्य में अत्याधिक विलंब कराया जा रहा है, जिससे उपभोक्ता बिजली की निर्बाध आपूर्ति के लाभ से महरूम हो रहे हैं।

रोशन नगर होगा रोशन
गौरतलब है कि आईपीडीएस योजना के तहत शहरी क्षेत्र में उपभोक्ताओं के लिये तीन सब स्टेशनों का निर्माण विद्युत वितरण कंपनी द्वारा कराया जा रहा है। 21.81 करोड़ की लागत से इस योजना के तहत रपटा भटौली, रोशन नगर एवं कैमोर में तीन सब स्टेशन का निर्माण कराया जा रहा है। इसके अलावा माधव नगर में 5 एवीए तथा गणेश चौक में इतनी ही क्षमता के अतिरिक्त टंÑासफार्मर लगाये जाने है। निम्नदाब की लाइनों का सुदृढ़ीकरण भी कराया जाना है। सब स्टेशन निर्माण के साथ ही अधिक क्षमता के ट्रांसफार्मर लगाने से लोगो को लो वोल्टेज, ट्रिपिंग की समस्या से मुक्ति मिलेगी।

आपकी राय

Name
Email
Comment
No comments post, Be first to post comments!

प्रदेश टुडे मैगज़ीन

November, 2014

ब्लॉग

शेयर बाज़ार