बेंगलुरु
कर्नाटक में सियासत अपने चरम पर पहुंच चुकी है। बीजेपी और सीएम येदियुरप्पा को शाम 4 बजे बहुमत साबित करना है। इसी बीच कांग्रेस और जेडीएस के 4 विधायक 'लापता' हो गए हैं। जेडीएस और कांग्रेस पार्टी के 2-2 विधायक अभी तक शपथ ग्रहण के लिए विधानसभा में नहीं पहुंचे हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मोइली ने कहा है कि सारा देश देख रहा है कि बीजेपी हमारे विधायकों को खरीदने की कोशिश कर रही है। हालांकि उन्होंने दावा किया कि उनके सारे विधायक पार्टी के लिए ही वोट करेंगे।

बहुमत परीक्षण के लिए केवल कुछ घंटे ही बचे हुए हैं। शपथ ग्रहण के लिए सभी दलों के विधायक सदन में पहुंच गए हैं, लेकिन 4 विधायक अभी भी नहीं पहुंचे हैं, जिनका कोई पता नहीं चल पाया है। इन 4 में से 2 जेडीएस और कांग्रेस के 2 विधायक हैं।

कांग्रेस के दो विधायक आनंद सिंह और प्रताप गौड़ा सदन में नहीं पहुंचे हैं। इन दोनों का अभी भी कुछ पता नहीं चल सका है। इसके साथ ही जेडीएस के 2 विधायक भी 'मिसिंग' हैं। आनंद सिंह होसपेट सीट से जबकि प्रताप गौड़ा मसकी से विधायक हैं।


कर्नाटक के नए सीएम येदियुरप्पा भी अपनी जीत को लेकर आश्वस्त नजर आ रहे हैं। येदियुरप्पा ने दावा किया है कि वह शाम 4 बजे बहुमत साबित कर देंगे। बीजेपी नेता सदानंद गौड़ा ने कहा कि शाम 4:30 बजे का इंतजार कीजिए, हम जीतेंगे और येदियुरप्पा 5 साल के लिए सीएम बनेंगे। केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार ने कांग्रेस और जेडीएस के पोस्ट अलायंस को अपवित्र गठबंधन की संज्ञा दी है और कहा है कि लोग उन्हें खारिज कर देंगे। सरकार बनाने के लिए 111 विधायकों का समर्थन चाहिए, जबकि बीजेपी के पास 104 विधायक हैं।