नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आंध्र प्रदेश के लिए प्रभारी महासचिव की भूमिका निभा रहे पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह के स्थान पर रविवार को केरल के पूर्व मुख्यमंत्री ओमन चांडी की नियुक्ति कर दी. इसके साथ ही राहुल ने पूर्व केंद्रीय मंत्री सीपी जोशी को पश्चिम बंगाल और अंडमान निकोबार के प्रभारी पद से मुक्त कर गौरव गोगोई को यह जिम्मेदारी सौंपी. कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत की ओर से जारी बयान के मुताबिक, दिग्विजय सिंह के स्थान पर चांडी और जोशी के स्थान पर गोगोई की नियुक्ति तत्काल प्रभाव से की गई है. गौरतलब है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह को मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए गठित समन्वय समिति का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है.

कांग्रेस ने की सराहना, लेकिन प्रभार वापस लिया
अशोक गहलोत ने फैसले की जानकारी देते हुए कहा कि पार्टी आंध्र प्रदेश के प्रभारी महासचिव की जिम्मेदारी से हट रहे दिग्विजय सिंह और पश्चिम बंगाल एवं अंडमान-निकोबार के प्रभारी की जिम्मेदारी से हट रहे जोशी की कड़ी मेहनत और योगदान की सराहना करती है. दिग्विजय के पास अब बतौर महासचिव तेलंगाना की जिम्मेदारी है. उधर, राजस्थान से ताल्लुक रखने वाले सीपी जोशी से हाल ही में बिहार का प्रभार वापस ले लिया गया था और यह जिम्मेदारी शक्ति सिंह गोहिल को सौंप दी गई थी. जोशी के पास अब असम की जिम्मेदारी के साथ पूर्वोत्तर के कुछ राज्यों का अतिरिक्त प्रभार है. आपको बता दें कि हाल ही में दिग्विजय सिंह को मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए गठित समन्वय समिति का अध्यक्ष नियुक्त किया गया था.