नई दिल्ली: पेट्रोल-डीजल की बढ़ते दाम के बीच आम आदमी को थोड़ी राहत मिली है. बुधवार को तेल कंपनियों ने पेट्रोल पर 60 पैसे और डीजल पर 56 पैसे की कटौती की है. हालांकि, पेट्रोल-डीजल के मोर्चे पर यह बहुत कम है. लेकिन, कर्नाटक चुनाव के बाद पहली बार तेल कंपनियों ने कटौती की है. दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 60 पैसे घटकर 77.83 रुपए प्रति लीटर और डीजल की कीमत 56 पैसे घटकर 68.75 रुपए प्रति लीटर हो गई है. हालांकि, अब भी पेट्रोल-डीजल अपने रिकॉर्ड स्तर के आसपास ही हैं.

कर्नाटक चुनाव के बाद पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ना शुरू हुई थी. 16 दिन बाद पहली बार तेल कंपनियों ने दाम घटाए हैं. अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में नरमी के बाद सरकार पर तेल के दाम कम करने का दबाव था. तेल कंपनियों ने कोलकाता में पेट्रोल की कीमत 59 पैसे की कटौती करते हुए 80.47 रुपए, मुंबई में 59 पैसे घटाते हुए 85.65 रुपए और चेन्नई में 63 पैसे की कटौती करते हुए 80.80 रुपए प्रति लीटर कर दी है.

कोलकाता में डीजल की कीमत में 56 पैसे की कटौती की गई है. इसकी कीमत 71.30 रुपए प्रति लीटर, मुंबई में 59 पैसे घटाकर 73.20 रुपए प्रति लीटर और चेन्नई में 60 पैसे की कटौती करते हुए 72.58 रुपए प्रति लीटर कर दी गई है.

पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों से राहत दिलाने के लिए सरकार दीर्घकालिक समाधान लाने पर काम कर रही है. सरकार ने कहा था कि हम जल्दबाजी में कोई फैसला नहीं लेंगे. इससे पहले पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (IOC) और पेट्रोल डीलर एसोसिएशन के साथ बैठक की थी. लेकिन इस बैठक से भी आम आदमी को कोई राहत नहीं मिली थी.

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट देखने को मिली है. बुधवार को ब्रेंट क्रूड 75 डॉलर प्रति बैरल के नीचे आ गया. जबकि नायमैक्स क्रूड 66 डॉलर प्रति बैरल के आसपास है. कच्चे तेल में आई नरमी के बाद ही तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल पर थोड़ी राहत दी है. वहीं, सरकार भी दूसरे विकल्पों पर विचार कर रही है. लगातार बढ़ती कीमतों से महंगाई पर दबाव बना हुआ है.