महासमुंद : छत्तीसगढ़ के महासमुंद में अज्ञात हमलावरों ने एक ही परिवार के चार लोगों की निर्मम हत्या कर दी. मरने वालों में एक दंपति और उनके दो बच्चे शामिल हैं. इस सामूहिक हत्याकांड से पूरे इलाके में सनसनी फ़ैल गई. पुलिस ने चारों शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिए हैं. अब मामले की छानबीन की जा रही है.

घटना महासमुंद के पिथौरा थाना क्षेत्र की है. जहां किशनपुर गांव में उप स्वास्थ्य केंद्र में तैनात ANM योग माया साहू अपने पति चेतन साहू समेत दो बच्चों के साथ रहती थी. माया का पति चेतन साहू रायपुर के एक निजी अस्पताल में PRO था. पूरा परिवार खुशहाली से रह रहा था.

बताया जा रहा है कि बुधवार की रात माया साहू के स्टाफ क्वॉटर में उसके कुछ रिश्तेदार आये हुए थे. हालांकि वे सभी रात में 9 बजे तक वापस लौट गए थे. सुबह जब घर की साफ़ सफाई के लिए एक महिला कर्मचारी उनके स्टाफ क्वॉटर में पहुंची तो उसने मेनगेट पर ताला लगा पाया. आमतौर पर यह गेट भीतर से बंद होता है.

उस महिला सफाई कर्मचारी ने मेन गेट का ताला खोला फिर घर का दरवाजा खटखटाया. भीतर से कोई आहट नहीं सुनाई दी, जबकि दरवाजा बंद भी नहीं था. उस महिला को आशंका हुई तो उसने दरवाजे को धक्का देकर खोला. दरवाजा खुलते ही उसके पैरों तले से जमीन खिसक गई. अंदर दोनों ही कमरों में खून फैला हुआ था.

दोनों ही कमरों में शव पड़े हुए थे. महिला कर्मचारी के मुताबिक घर के कमरे में चारों तरफ सिर्फ खून ही खून के छींटे नजर आ रहे थे. पास ही खून से सना हुआ एक फावड़ा भी दिखाई दिया. अंदेशा जाहिर किया जा रहा है कि इसी फावड़े से उन पर वार किए गए थे. सफाई कर्मी ने इसकी सूचना फौरन स्थानीय लोगों और पुलिस को दी.

पुलिस ने मौके पर जाकर देखा तो घर की आलमारी खुली हुई थी. सामान भी बिखरा हुआ था. पुलिस ने घटनास्थल से 30 वर्षीय योग माया साहू, 32 वर्षीय चेतन, 6 वर्षीय तन्मय और 8 वर्षीय कुणाल की लाश बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दी. इसके बाद घटनास्थल को सील कर दिया गया.

पुलिस के मुताबिक आपसी रंजिश के चलते या फिर लूट के इरादे से ही अज्ञात आरोपियों ने इस दर्दनाक घटना को अंजाम दिया है. मामले की तहकीकात की जा रही है. फोरेंसिक एक्सपर्ट को भी जांच के लिए बुलाया गया है. इस सामूहिक हत्याकांड से पूरे इलाके में दहशत का माहौल है.