नई दिल्ली : अप्रैल में एक लाख करोड़ राजस्व का आंकड़ा छूने के बाद जीएसटी कलेक्शन कम हो गया है. मई महीने में  माल एवं सेवा कर (जीएसटी) से सरकार को 94,016 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ है.

वित्त मंत्रालय ने शुक्रवार को मई के जीएसटी कलेक्शन के आंकड़े जारी किए हैं. वित्त मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक मई में जीएसटी कलेक्शन अप्रैल की तुलना में कम है.

अप्रैल में जीएसटी के तहत मिले टैक्स ने 1 लाख करोड़ का आंकड़ा पार किया था. इस दौरान यह 1,03,458 करोड़ रुपये रहा था. हालांकि मई में प्राप्त कुल टैक्स वित्त वर्ष 2017-18 के औसत मासिक संग्रह से ज्यादा है. यह संग्रह 89,885 करोड़ रुपये की तुलना में अधिक है.

वित्त सचिव और राजस्व सचिव हसमुख अध‍िया ने ट्वीट कर मई महीने के जीएसटी कलेक्शन की जानकारी दी. उन्होंने कहा, ''यह कलेक्शन ई-वे बिल के लागू होने के बाद बेहतर अनुपालन को दर्शाता है.''

इस दौरान उन्होंने यह भी जानकारी दी कि अप्रैल से 31 मई तक 62.46 लाख रिटर्न भरे गए. जो कि मार्च से 30 अप्रैल तक भरे गए रिटर्न 60.47 लाख से ज्यादा है.

पिछले साल जुलाई  में लागू किए जाने के बाद जीएसटी कलेक्शन में लगातार उतार-चढ़ाव नजर आ रहा था, लेक‍िन अप्रैल में कलेक्शन ने एक नया रिकॉर्ड  बनाया. लॉन्च के बाद से यह पहली बार था, जब किसी महीने में जीएसटी के तहत कलेक्शन 1 लाख करोड़ के पार पहुंचा.