नई दिल्लीः जाने-माने उद्योगपति एवं एयर इंडिया निदेशक मंडल के पूर्व सदस्य आनंद महिंद्रा ने कहा कि एयर इंडिया की तस्वीर बदलने के लिए कड़े कदम उठाने की आवश्यकता है। साथ ही उसके चेयरमैन को पूर्ण स्वायत्तता दी जानी चाहिए और राजनीतिक दबाव से दूर रखना चाहिए।

एयर इंडिया में हिस्सेदारी की बिक्री के लिए सरकार ने बोली आमंत्रित की थी, हालांकि हिस्सेदारी खरीदने के लिए कोई आगे नहीं आया। बोली लगाने की अंतिम तिथि 31 मई थी। महिंद्रा समूह के चेयरमैन ने कहा, मुझे लगता है कि बिक्री को लेकर लोगों की बेरुखी दिखाती है कि बदलाव की दिशा में बढ़ने के लिए कड़े कदम उठाने की जरूरत है। उन्होंने ट्वीट में कहा कि तेज और निर्णायक कार्रवाई को व्यापक समर्थन मिलेगा और यह एक राजनीतिक अवसर साबित हो सकता है।

महिंद्रा ने कहा कि एयर इंडिया में बदलाव के बाद उसे बेचा जाना चाहिए। उन्होंने एयर इंडिया में बदलाव को लेकर कुछ सुझाव भी दिए। उन्होंने कहा कि ई श्रीधरन जैसे जुनूनी और क्षमतवान सरकारी अधिकारी की पहचान करनी चाहिए और उसे चेयरमैन एवं सीईओ नियुक्त करना चाहिए है। उन्होंने कहा, चेयरमैन को राजनीतिक दबाव से दूर रखा जाना चाहिए, कड़े कदम उठाने के लिए पूर्ण नैतिक समर्थन देना चाहिए। चेयरमैन और सीईओ को बदलाव के लिए तय सीमा के साथ पूर्ण स्वायत्तता दी जानी चाहिए। एयर इंडिया का मुखिया चैयरमैन एवं प्रबंध निदेशक (सीएमडी) होता है जबकि सीईओ का कोई पद नहीं है।