कर्नाटक : कर्नाटक की नई सरकार ने सरकारी खर्चों में कटौती शुरू कर दी है. मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने राज्य के अधिकारियों को खर्चों में कटौती का निर्देश दिया है. उन्होंने सरकारी विभागों द्वारा नई गाड़ियां खरीदने के प्रस्ताव पर संबंधित अफसरों से पुनर्विचार करने को कहा है.

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार कुमारस्वामी ने अधिकारियों को फिजूलखर्ची से बचने की सलाह देते हुए कहा कि राज्य की आर्थिक स्थित को सुधारने के लिए अधिकारी दफ्तरों और सरकारी आवास की साज-सज्जा पर अनावश्यक खर्च न करें.

मुख्यमंत्री के कार्यालय से इस बारे में बयान जारी किया गया है. 1 जून को एच डी कुमारस्वामी ने निर्देश दिया कि उनकी बैठकों में अधिकारी मोबाइल फोन लेकर न आएं. इससे ध्यान बंटता है. मुख्यमंत्री के जारी बयान में कहा गया है कि बैठक में जब किसी अहम और गंभीर मुद्दे पर चर्चा हो रही होती है तो मोबाइल फोन के बजने से उसमें खलल पड़ता है.

बाढ़ की स्थिति की समीक्षा की
मुख्यमंत्री ने रविवार राज्य में बारिश की स्थिति की समीक्षा की और मुख्य सचिव के. रत्न प्रभा और अन्य अधिकारियों को युद्ध स्तर पर राहत कार्य करने को कहा है. बारिश की वजह से कर्नाटक के कई हिस्सों में क्षति पहुंची है.

एक आधिकारिक बयान में बताया गया है कि उन्होंने अधिकारियों को सतर्क रहने और उन्हें स्थिति के बारे में लगातार अपडेट देने को कहा है. कुमारस्वामी ने मुख्य सचिव और जिले के उपायुक्त को यह सुनिश्चित करने को कहा है कि धन की कमी से राहत कार्य में कोई बाधा नहीं आनी चाहिए.

मुख्य सचिव ने मुख्यमंत्री को अब तक उठाए गए सभी कदमों की जानकारी देते हुए बताया कि राहत कार्य के लिए पर्याप्त कोष सभी उपायुक्तों के पास मौजूद है. पिछले कई दिनों राज्य के कई हिस्सों में बारिश हुई है. अधिकारी ने बताया कि बेलागवी, गडग, चिकमगलुरू और मैसुरू में भारी बारिश का दौर जारी है.