लीड्स: गेंदबाजों की घातक गेंदबाजी के दम पर मेजबान इंग्लैंड ने दूसरे क्रिकेट टेस्ट मैच के तीसरे ही दिन रविवार (3 जून) को पाकिस्तान को पारी और 55 रन से हराकर दो मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-1 से बराबरी हासिल कर ली. पिछले लगभग नौ महीनों में इंग्लैंड की यह पहली टेस्ट जीत है. पाकिस्तान को उसकी पहली पारी में 174 रन पर समेटने के बाद इंग्लैंड ने अपने एक दिन पहले के स्कोर सात विकेट पर 302 रन से आगे खेलते हुए अपनी पहली पारी में 363 रन का स्कोर बनाया और 189 रन की बढ़त हासिल की. पाकिस्तान ने लॉर्ड्स में पहले टेस्ट में नौ विकेट से जीत हासिल की थी.

बता दें कि पिछले साल सितंबर में वेस्टइंडीज को मात देने के बाद इंग्लैंड की टेस्ट मैच में यह पहली जीत है. इस दौरान उन्हें आठ मैचों में से छह में हार का सामना करना पड़ा. इस तरह टीम लगातार तीसरी सीरीज गवांने से बच गई. पाकिस्तान के पहली पारी के 174 रन के जवाब में इंग्लैंड की टीम जेम्स बटलर की नाबाद 80 रन के बूते 363 रन पर आल आउट हो गयी जिससे पहली पारी के आधार पर उन्हें 189 रन की बढ़त मिली.

पाकिस्तान की दूसरी पारी महज 134 रन पर सिमट गई, जिसमें टीम ने अंतिम सात विकेट महज 50 रन पर खो दिए. स्टुअर्ट ब्रॉड ने दूसरी पारी में भी तीन विकेट चटकाए और ऑफ स्पिनर डोमिनिक बेस ने भी 33 रन देकर तीन खिलाड़ियों का चलता किया.

दूसरी पारी में पाकिस्तान की शुरूआत अच्छी नहीं रही. इंग्लैंड के लिए सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले जेम्स एंडरसन ने अजहर अली को 11 रन पर बोल्ड कर दिया. टीम का स्कोर अभी 30 रन ही हुआ था की एंडरसन की गेंद पर एक्स्ट्रा कवर पर खड़े डोमिनिक बेस ने हैरिस सोहेल (08) का एक हाथ से शानदार कैच लपक कर उन्हें पवेलियन भेजा.

इसके बाद ब्रॉड ने विकेटकीपर जॉनी बेयरस्टा के हाथों कैच करा अनुभवी असद शफिक (05) को चलता किया. मैदानी अंपायर ने हालांकि उन्हें आउट नहीं दिया था लेकिन रिव्यू में दिखा की गेंद उनके ग्लव्स को छूते हुए गई थी. पाकिस्तान लिए इमाम उल हक 34 रन और टेस्ट में पदार्पण कर रहे उस्मान सलाहुद्दीन 33 ही थोड़ा टिककर खेल सके.

इससे पहले इंग्लैंड ने दिन की शुरूआत सात विकेट पर 302 रन से की जिस समय जोस बटलर नाबाद 44 और सैम कुर्रान नाबाद 16 रन पर क्रीज पर थे. कुर्रान हालांकि अपने 20 जन्मदिन के दिन 20 रन पर मोहम्मद अब्बास (78 रन पर दो विकेट) की गेंद पर स्लिप में कैच दे बैठे.

शनिवार को हसन अली ने बटलर का कैच टपका दिया था जो पाकिस्तान को महंगा पड़ा. उन्होंने तेज गेंदबाज अब्बास की लगातार दो गेंद पर चौका और फिर छक्का जड़कर अपना अर्धशतक पूरा किया. उन्हें 66 रन के स्कोर पर सलाहुद्दीन ने एक और जीवन दान दिया. जब वह 80 रन पर थे, तब दूसरी छोर से टीम के अंतिम बल्लेबाज जेम्स एंडरसन (05) हसन अली (82 रन पर दो विकेट) के शिकार बन गए. बटलर ने 101 गेंद की नाबाद 80 रन की पारी में 11 चौके और दो छक्के लगाए.

पाकिस्तान के लिए दूसरी पारी में इमाम उल हक ने 64 गेंदों पर पांच चौकों की मदद से सर्वाधिक 34 और पहला टेस्ट खेल रहे उस्मान सलाउद्दीन ने 102 गेंदों पर दो चौकों की मदद से 33 रन का योगदान दिया. इंग्लैंड की मजबूत गेंदबाजी आक्रमण के सामने पाकिस्तान की हालत यह रही कि उसके आठ बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू सके. अजहर अली दहाई में पहुंचने वाले तीसरे बल्लेबाज रहे. उन्होंने 11 रन बनाए.

पाकिस्तान के लिए फहीम अशरफ ने 60 रन देकर सर्वाधिक तीन विकेट हासिल किया. मोहम्मद आमिर, मोहम्मद अब्बास और हसन अली के हिस्से दो-दो विकेट आए. शादाब खान ने एक विकेट प्राप्त किया.