नई दिल्ली: महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपरकिंग्स आईपीएल 2018 का खिताब जीतने में कामयाब रही है. 'बुजुर्गों' की टीम कही जा रही चेन्नई ने जब यह खिताब जीता तो जीत का सेहरा महेंद्र सिंह धोनी के सिर पर सजा. हर कोई महेंद्र सिंह धोनी और उनकी कप्तानी की तारीफ कर रहा था, लेकिन हाल ही में हुए एक सर्वे में यह बात सामने आई है कि महेंद्र सिंह धोनी नहीं आईपीएल 2018 का सबसे कीमती खिलाड़ी कोई और है. हाल ही में आईपीएल में 2018 में खिलाड़ियों के प्रभाव पर हंसा रिसर्च ग्रुप द्वारा किए गए एक सर्वे में कुछ दिलचस्प नतीजे सामने आए हैं. इस अध्ययन में अनेक मानकों को अपनाया गया है. इसमें यह पाया गया कि अंबाती रायडू को चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी से अधिक मूल्यवान खिलाड़ी पाया गया है.

आईपीएल 2018 में कई मैच बेहद रोमांचक हुए. इसके बाद प्लेऑफ के मुकाबले हुए. यह अध्ययन फाइनल मैच के बाद किया गया. आईपीएल के इस 11वें संस्करण में अनेक रोमांचक पल आए, कुछ खिलाड़ियों ने ऐसे मौकों पर शानदार परफॉर्मेंस किया. वहीं, कुछ खिलाड़ी असफल साबित हुए. टूर्नामेंट की आठ टीमों ने बड़े-बड़े खिलाड़ियों पर नीलामी के दौरान बड़े दांव लगाए.

आईपीएल के बाद यह मूल्यांकन किया गया कि कौन खिलाड़ी अपनी वैल्यू पर खरा उतरा. हंसा रिसर्च ग्रुप ने यह देखा कि खिलाड़ियों पर किए गए इन्वेस्टमेंट से कितना रिटर्न मिला. इस अध्ययन में अनेक मानदंडों को अपनाया गया. मसलन किसने तेजी से अर्धशतक बनाया, किसने शतक, इसमें कितने छक्के और चौके थे, खिलाड़ी ने कितने कैच पकड़े या कितने विकेट लिए. इन सब चीजों के अंक दिए गए और यह कैलकुलेट किया गया कि खिलाड़ी की क्या वैल्यू बैठती है और उस पर कितना निवेश किया गया है. इससे कुछ दिलचस्प नतीजे सामने आए हैं.

एक खिलाड़ी द्वारा टॉप परफॉर्मेस इस बात से तय नहीं हुई कि उसे बहुत महंगा खरीदा गया था. मिसाल के लिए विराट कोहली इस लिस्ट में छठे नंबर पर रहे. उनकी टीम रॉयल चैलेंजर बेंगलुरु प्ले ऑफ में भी नहीं पहुंच पाई. कोहली ने 48.18 की औसत से 530 रन बनाए. उनका स्ट्राइक रेट 139.10 रहा. उन्होंने चार अर्दधशतक भी लगाए, लेकिन आरसीबी ने उन पर 17 करोड़ रुपए निवेश किए थे. कोहली को 2225 प्वाइंट मिले, लेकिन उनका हर प्वाइंट 76,404 रुपए का पड़ा.

इसी तरह महेंद्र सिंह धोनी ने चेन्नई सुपर किंग्स को तीसरा आईपीएल खिताब जितवाया. बल्लेबाजी, कप्तानी और विकेटकीपिंग से धोनी का मूल्यांकन किया गया. वह भी अंक पाने वालों में पहले नंबर पर नहीं रहे. आंकड़े बताते हैं कि अंबाती रायडू ने 2734 अंक पाकर धोनी को पछाड़ दिया. रायडू को महज 2.2 करोड़ में खरीदा गया था, जबकि धोनी (2450 प्वाइंट्स) 15 करोड़ रुपए में खरीदा गया था.

अंबाती रायडू 136 खिलाड़ियों के मूल्यांकन में 16वें नंबर पर रहे. महेंद्र सिंह धोनी 113वें, कोहली 121वें नंबर पर रहे. फाइनल मैच में शतक लगाने वाले शेन वॉटसन को 3330 अंक मिले. उऩ्हें चार करोड़ में खरीदा गया था. अंतिम पलों में खरीदे गए क्रिस गैल को 1706 अंक मिले. गेल दो करोड़ में बिके थे.

कम इन्वेस्टमेंट से ज्यादा रिटर्न देने वाले खिलाड़ी रहे हर्षल पटेल. पटेल ने कवल पांच मैच खेले. 2 करोड़ में खरीदे गए हर्षल को 830 प्वाइंट्स मिले. उनका हर प्वाइंट 860 रुपए का पड़ा. राजस्थान रॉयल्स के कर्नाटक के स्पिनर गोपाल श्रेयस ने 11 मैचों में 11 विकेट लिए. 2 करोड़ में खरीदे गए गोपाल के हर अंक की कीमत 1151 रुपए रही.

हर्षल पटेल के बाद वह बेस्ट रहे. बाएं हाथ के पेसर जयदेव उनादकट नीलामी में सबसे महंगे बिके थे. उन्हें 11.5 करोड़ में खरीदा गया था. उन्होंने टूर्नामेंट में 11 विकेट लिए. उनके एक प्वाइंट की कीमत 1.05 लाख रुपए रही. उन्होंने 1088 प्वाइंट अर्जित किए.